Good Thinking Story in Hindi – इंसान की सोच ही सब कुछ है !

इंसान के जीवन में उसकी सोच ही उसके व्यक्तित्व एवं चरित्र का निर्माण करती है। हमारे जीवन में हमारी सोच एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। आइए देखते हैं इसी परिपेक्ष में एक नई कहानी-

एक बहुत अमीर आदमी था। उसके पास दुनिया की हर वस्तु थी। उसका एक ही बेटा था जो एकांत में पूर्ण विलासिता से भरा जीवन व्यतीत करता था। एक दिन उस व्यक्ति ने सोचा कि किसी तरह मुझे अपने बेटे को एहसास कराना चाहिए कि वह विलासिता पूर्ण जीवन में कितना जी रहा है। उसे पता होना चाहिए कि हमारे समाज में बहुत से गरीब लोग भी हैं और वे गरीबी में कैसे जीवन यापन करते हैं। ताकि मेरा बेटा उन चीजों के मूल्यों को महसूस कर सके जो उसके पास हैं और उस धन दौलत का उसे वास्तविक महत्त्व पता चले जो उसको मैंने दिया है।

good thinking story image

इस बारे में सोचते हुए,उसने निश्चय किया कि वह अपने बेटे को एक गांव में ले जाएगा और वे दोनों पूरा दिन एक गरीब किसान के घर पर बिताएंगे।

और एक दिन वह अपने बेटे को अपने पास के एक छोटे से गाँव में ले कर गया और पूरे दिन एक किसान के साथ रहा। उस आदमी ने पूरे गाँव को अपने बेटे को दिखाया, और गाँव के लोगों का रहन – सहन, खाने – पीने और जीने का ढंग भी दिखाया। यहां तक कि उसने अपने बेटे को गाँव के जीवन से अच्छी तरह अवगत भी कराया।

अमीर आदमी के बेटे के लिए, यह सब बहुत नया और अनोखा था। उसने बड़े चाव से सब कुछ देखा।

गाँव से लौटने पर, अमीर आदमी ने अपने बेटे से पूछा “बेटा! तुम्हें यह पिकनिक कैसी लगी?

बहुत बढ़िया! बेटे ने जवाब दिया।

क्या तुमने देखा कि गरीब लोग कैसे रहते हैं?” पिता ने पूछा। “हाँ” बेटे ने व्यंग्यात्मक लहजे में जवाब दिया।

और तुमने उससे क्या सीखा?” पिता ने पूछा।

बेटे ने कुछ देर सोच कर जवाब दिया। “मैंने देखा कि हमारे पास घर में एक कुत्ता है और गाँव में उनके पास चार कुत्ते हैं। हमारे पास एक स्विमिंग पूल है जो हमारे घर की सीमाओं के भीतर सीमित है जबकि उनके पास तालाब एवं नदियाँ हैं, जिनकी कोई सीमा नहीं है। हमारे पास कीमती बल्ब और ट्यूबलाइट हैं जो रात में हमारे घर एवं बगीचे को उज्ज्वल रखते हैं, जबकि उन लोगों के सिर पर चमकते सितारे हैं जो अंधेरा होने पर स्वचालित रूप से चमकते हैं। हमारे घर का लॉन घर की दीवार के साथ समाप्त होता है, और उनका लॉन वह ज़मीन है जो जहां तक नज़र जाए वहां तक फैली हुई है।

बेटे का जवाब सुन कर पिता लाजवाब हो गया। बेटे ने बोलना जारी रखा..बहुत-बहुत धन्यवाद पिताजी! क्योंकि आपने यह सब मुझे दिखाया, बताया है और मुझे एहसास दिलाया है कि हम वास्तव में कितने गरीब हैं।

यह सुनकर पिता आश्चर्य चकित एवं निःशब्द हो गया।

Read Similar Stories:

यह एक सार्वभौमिक सत्य है कि सब कुछ हमारे देखने और सोचने के नज़रिए पर निर्भर करता है। एक  प्रसिद्ध कहावत है: “हम चीजों को वैसे नहीं देखते जैस वो होती हैं, बल्कि वैसा देखते हैं जैसे हम स्वयं होते हैं। हमारा जीवन हमारी सोच पर निर्भर करता है।

हम हमेशा अपने सोचने के तरीके से जी रहे हैं।

यदि आप एक सकारात्मक मानसिकता और एक सकारात्मक व्यक्तित्व के मालिक हैं, तो आपका जीवन निश्चित रूप से शांतिपूर्ण, खुशहाल और उच्च स्तर का होगा। यदि आपके पास प्यार, अच्छे दोस्त, परिवार, अच्छे स्वास्थ्य और जीवन के बारे में सकारात्मक सोच है, तो आपके पास वह सब कुछ है, जो आप न तो खरीद सकते हैं और न ही किसी से छीन सकते हैं।

जीवन में जो भी आप सोचते हैं और चाहते हैं कि आपके पास सभी भौतिक संसाधन हों, भविष्य में कभी न कभी आप उसे प्राप्त कर ही लेंगे। लेकिन अगर आपके पास वह सब कुछ पाने की हिम्मत, धैर्य और साहस नहीं है जो आप चाहते हैं, तो आपके पास है कुछ भी नहीं है।

Submit Your Story

Bilal Hayat

मेरा नाम बिलाल हयात है। मैं सऊदी अरब में 8 वर्षों से रह रहा हूं। ग्रैजुएशन करने के बाद मै सऊदी कमाने के लिए आ गया। मुझे सरल जीवन पसंद है।मैं कोई प्रोफेशनल लेखक नहीं हैं बस प्रयास कर रहा हूं लिखने का।आप लोगो के आशीर्वाद एवं साथ की आवश्यकता है।

You may also like...