इस तस्वीर के पीछे की कहानी सुन कर आपको रोना आ जायेगा – Old Hindi Story

दोस्तों, हम आपके लिए एक old Hindi story लेकर आये है जो काफी इमोशनल है और यकीनन ये पुरानी कहानी पढ़ कर आपकी आँखों में आंसू आ जायेंगे. इस तस्वीर को देख कर कई लोगों के दिल में तरह-तरह के ख्याल आते होंगे लेकिन हम बता दे कि जब आप इस तस्वीर के पीछे की सच्चाई जानोगे तो हैरान रह जाओगे.

old hindi story

पुरातन रोमन (Roman) काल में एक साइमन (Cimon) नाम का बुज़ुर्ग था जिसे रोम के राजा ने मौत की सजा सुनाई. लेकिन ये मौत की सजा बहुत भयानक थी. साइमन को भूख से तड़पते हुए मौत की सजा दी गयी थी यानि जब तक उसके प्राण ना निकल जाए उसे ना कुछ खाने को दिया जाए और ना पीने को.

साइमन को एक बड़ी जेल में बंद कर दिया गया था और सैनिक इंतज़ार करने लगे कि कब इसकी भूख से मौत हो. साइमन की एक बेटी थी जिसका नाम पेरो (Pero) था जो कि अपने पिता की इस अवस्था को देख नहीं सकती थी. वो अपने पिता की ये हालत देख परेशान रहती थी और अत: उसने अपने पिता की मदद करने की सोची.

पेरो (Pero) ने जेलर से दरख्वास्त की और कहा कि उसके पिता बहुत बूढ़े है और वे ज़्यादा दिन ज़िंदा नहीं रहेंगे इसलिए जब तक वे जीवित है तब तक हर रोज़ उसे अपने पिता से मिलने की इज़ाज़त दी जाए.

जेलर एक नरम दिल इंसान था और उसने बेटी की ये बात मान ली. चूँकि साइमन (Cimon) की बेटी अपने पिता की बहुत परवाह करती थी और उससे ये कतई बर्दाश्त नहीं हो रहा था कि उसके पिता भूख से मरने वाले है. अत: पेरो  (Pero) यानि साइमन के बेटी ने अपने पिता को ज़िंदा रखने का एक उपाय खोज निकाला. 

वो उपाय ये था कि जब भी साइमन की बेटी जेल में अपने पिता से मिलने आती थी तो वो पिता को अपना स्तनपान कराती थी यानी कि अपना दूध पिलाती थी. भूख से मज़बूर पिता भी ये करने पर विवश था.

जब कई दिन बीत गए तो सैनिको को शक हो गया और उन्होंने साइमन की बेटी पर नज़र रखने की सोची. एक दिन जब साइमन की बेटी जेल में अपने पता से मिलने आयी और अपने पिता को स्तनपान करवा रही थी तो सैनिको ने उसे पकड़ लिया और जेलर के पास ले गए.

ये भी पढ़े:

जब जेलर ने पूरी घटना सुनी तो उसका दिल पसीज गया और उसे एक बेटी के प्यार के आगे झुकना पड़ा और अत: उसने साइमन को छोड़ दिया.

ये तस्वीर आज भी बहुत मशहूर है और कई लोगों को इस तस्वीर के पीछे की सच्चाई मालूम नहीं लेकिन जिन्हे मालूम चली उनका भी दिल पसीज गया. इस तस्वीर में कुछ भी गलत या नकारात्मक नहीं है, जिन्हे इस तस्वीर की सच्चाई पता है वो समझते है कि कैसे एक बेटी ने अपने पिता के लिए ये सब किया। अंत में जेलर को भी इस बेटी के प्यार के आगे झुकना पड़ा.   

दोस्तों, अगर ये old Hindi story आपके भी दिल को छू गयी हो तो इसे ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करे ताकि लोगों को इस तस्वीर के पीछे की सच्चाई पता चल सके.

धन्यवाद

Submit Your Story

Vineet

नमस्ते। मुझे नयी कहानियां लिखना और सुनना अच्छा लगता है. मैं भीड़-भाड़ से दूर एक शांत शहर धर्मशाला (H.P) में रहता हूँ जहाँ मुझे हर रोज़ नयी कहानियां देखने को मिलती है. बस उन्ही कहानियों को मैं आपके समक्ष रख देता हूँ. आप भी इस वेबसाइट से जुड़ कर अपनी कहानी पब्लिश कर सकते है. Like us on Facebook.

You may also like...