Positive Thinking Story in Hindi – ज़रा नजरिया बदल कर तो देखिये !

दोस्तों, ज़िन्दगी में Positive Thinking की बहुत अहमियत है. लाइफ में उतार चढाव तो आते ही रहते है और ये काफी हद तक सही भी है क्यूंकि अगर ज़िन्दगी में आपको परेशानी या मुश्किलें नहीं आएंगी तो आपको खुशियों की सही वुक्कत पता ही नहीं चलेगी. हम आपके लिए लाये है positive thinking story in Hindi जिसे पढ़ कर आपको यकीनन एहसास होगा कि पॉजिटिव थिंकिंग या Positive Attitude रखना बहुत ज़रूरी है., तो आईये पढ़ते है ये पॉजिटिव थिंकिंग पर कहानी.

Positive Thinking

एक व्यक्ति अँधेरे कमरे में उदास बैठा हुआ था. उसने एक डायरी निकाली, पेन उठाया और अपनी डायरी में लिखना शुरू किया:

“इस साल मेरा पैरो का ऑपरेशन हुआ, काफी खर्चा हुआ था और पूरे 2 महीने तक मैं बिस्तर से उठ ना सका”

“मेरी उम्र अब 65 साल की हो गयी है, बूढा हो गया हूँ पता नहीं और कितना जी पाउँगा।”

“इस साल पिता जी भी स्वर्ग सिधार गए”

“इस साल बेटे का कार एक्सीडेंट भी हुआ था, कितनी चोटें आयी थी मेरे बेटे को और कार की भी हालत बिलकुल खराब हो गयी थी. कार की मुरम्मत करवाने में काफी खर्चा भी हुआ था”

अंत में उस व्यक्ति ने लिखा:

” यकीनन…. ये साल मेरे लिए बहुत खराब गया…. “

Positive Thinking Story in Hindi

ये लिख कर वो व्यक्ति कमरे से बाहर चला गया और इतने में उसकी पत्नी आ गयी. तभी पत्नी की नज़र अचानक उस खुली डायरी पर पड़ी और उसमे जो लिखा था वो पढ़ लिया। पत्नी ने जल्दी से पेन उठाया और कुछ लिखना शुरू कर दिया. लिख कर पत्नी कमरे से बाहर चले गयी और इतने में वो व्यक्ति भी कमरे के अंदर दाखिल हुआ.

उदासी भरी आँखों से उसने फिर पेन उठाया लेकिन ये क्या….

उस डायरी में उसने जो लिखा था उसकी बजाय कुछ और ही लिखा हुआ था, उसने पढ़ा:

Positive thinking story in Hindi

“शुक्र है इस साल पैरो का ऑपरेशन हो गया, इतने सालो से दर्द सह रहा था आर्थराइटिस का “

“मेरी उम्र अब 65 साल की हो गयी है, और भगवान् की कृपा है कि मैं अभी भी बिलकुल स्वस्थ हूँ। “

“इस साल पिता जी भी स्वर्ग सिधार गए, शुक्र है कि 90 साल की उम्र में भी उन्हें कोई बड़ी बीमारी नहीं हुई, जितनी देर रहे कभी उन्हें किसी पर निर्भर नहीं रहना पड़ा.”

“इस साल बेटे का कार एक्सीडेंट भी हुआ था, लेकिन शुक्र है मेरे बेटे को कुछ नहीं हुआ. कार का क्या है, कम से कम बेटा तो सुरक्षित है “

अंत में उस व्यक्ति की पत्नी ने लिखा था :

” वाकई में, इस साल भगवान ने हम पर अपनी कृपा बनाई रखी और मुझे विश्वास है कि भोलेनाथ आगे भी मेरे सब काम बनाते रहेंगे”  

इतने पॉजिटिव और प्रेरित अल्फ़ाज़ पढ़कर उस व्यक्ति को बहुत ख़ुशी हुई और उसे एहसास हो गया कि वाकई में ये साल अच्छा गुज़रा और उस दिन से ज़िन्दगी को देखने का उसका नजरिया बदल गया.

positive thinking hindi

ये भी पढ़िए:

Positive Thinking यानि सकारात्मक सोच हमें ज़िन्दगी में आशा और बेहतर करने की शक्ति देती है जबकि नकारात्मक सोच हमें सिर्फ निराशा ही दे सकती है जिससे कि हमें ज़िन्दगी में विफलता मिलती है. इसलिए हमेशा सकारात्मक सोच रखिये और खुश रहिये. ठीक इस Positive thinking story in Hindi की तरह आप भी अपनी ज़िन्दगी सकारात्मक सोच रखिये और फिर देखिये कमाल. आपके सभी काम पूरी तरह बनने शुरू हो जायेंगे और आपमें एक नया कॉन्फिडेंस आएगा जो आपकी ज़िन्दगी बदल देगा.

Submit Your Story

Vineet

नमस्ते। मुझे नयी कहानियां लिखना और सुनना अच्छा लगता है. मैं भीड़-भाड़ से दूर एक शांत शहर धर्मशाला (H.P) में रहता हूँ जहाँ मुझे हर रोज़ नयी कहानियां देखने को मिलती है. बस उन्ही कहानियों को मैं आपके समक्ष रख देता हूँ. आप भी इस वेबसाइट से जुड़ कर अपनी कहानी पब्लिश कर सकते है. Like us on Facebook.

You may also like...