लालची भेड़िया की कहानी – A Small Story in Hindi

Greedy Wolf Story in Hindi

एक गाँव में एक गडरिया रहता था। उसके पास बहुत सारी भेड़ें थी जिन्हें चराने के लिए वो रोज जंगल में ले जाया करता था। जंगली जानवरों से अपनी भेड़ों की सुरक्षा के लिए गडरिए ने अपने पास कुछ खूंखार कुत्तों को भी पाल रखा था जो जंगली जानवर से भेड़ों को बचाते थे। उसी जंगल में एक भेड़िया रहता था जिसकी नजर गडरिए की भेड़ों पर थी, लेकिन कुत्तों के कारण वो उन्हें छू तक नहीं पाता था। लेकिन भेड़िया हमेशा भेड़ों को खाने की फिराक में रहता था।वैरी शोर्ट स्टोरी

एक दिन भेड़िए ने देखा गडिए ने अपनी एक भेड़ को मारकर उसका मासं पकाकर खा लिया लेकिन भेड़ की खाल को सूखने के लिए घर के बाहर डाल दिया। खाल को देखकर भेड़िए ने सोचा क्यों ना में ये खाल पहन लूं इससे मैं भेड़ों के बीच आसानी से जा पाऊंगा और मौका मिलते ही उनका शिकार कर पाऊंगा।

भेड़िए ने प्लान के मुताबिक गडरिए के भेड़ों को लेकर जंगल जाने का इंतजार किया और जैसे ही गडरिया जंगल चला गया उसने गडरिए के घर के बाहर रखी खाल उठाई और उसे पहन लिया। अब गडरिया भी भेड़ की तरह दिख रहा था। शाम को गडरिया जब जंगल से भेड़ो के साथ लौटा तो भेड़िया भी भेड़ो के साथ उनके झुण्ड में मिल गया और अंधेरे होने का इंतजार करने लगा।

लेकिन उस दिन गडरिए के घर कुछ मेहमान आने वाले थे तो गडरिए ने मेहमानों के लिए भेड़ का मांस पकाने की सोची जिसके लिए गडरिया ने एक मोटी भेड़ को चुना। जो ओर कोई नहीं भेड़ की खाल पहने भेड़िया था। भेड़िए के लालच के कारण उसकी जान चली गई।

शिक्षा – लालच में किया गया कोई भी काम हमेशा खुद को अनर्थ की तरफ ही ले जाता है। इसलिए कभी भी लालच नहीं करना चाहिए।

लालच करना हमेशा ही नुकसान दायक होता है , लेकिन ये बातें बच्चों आम समझना बहुत ही मुश्किल होता है । इस कहानी के जरिए बच्चे आसानी से समझ गए होगें की लालच कितनी घातक सिद्ध हो सकता है। ये small story in Hindi आपको कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताएं।

Read More : 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *