संवेदना अकाउंट - Karma ka Siddhant in Hindi | Short Stories in Hindi संवेदना अकाउंट - Karma ka Siddhant in Hindi

संवेदना अकाउंट – Karma ka Siddhant in Hindi

वैसे तो हम कई तरह के एकाउंट्स से परिचित हैं, जैसे कि सेविंग्स अकाउंट, करंट अकाउंट या फिर फिक्स्ड डिपाजिट | इनके एटीएम हमें हमारी सुविधा के लिए पूरे देश में मिल जाते हैं और हम उनका उपयोग भी करते हैं | परन्तु आज मैं आपको एक एसे अकाउंट से परिचित कराने जा रही हूँ जिसके एटीएम हमें पूरे विश्व में मिलेंगे और जिसका बैंकर है ईश्वर | उस अकॉउट का नाम है संवेदना अकाउंट |

Karma ka Siddhant in Hindi

जैसा कि इसके नाम से ही विदित होता है, सम-वेदना, अर्थात दूसरे के दुःख को, तकलीफ को, उसकी वेदना को अपने आप में भी महसूस करना | हम अगर किसी भी मनुष्य, जीव जंतु या जानवर आदि की वेदना (पीड़ा) को अपने आप में महसूस कर के उसकी कुछ मदद करते हैं, या उसकी पीड़ा को कम करने के लिए कुछ प्रयास करते हैं तो वह भलाई का काम हमारे सम-वेदना अकाउंट में अपने आप जमा हो जाता है, और जब हम ऐसे ही कहीं भी रहते हुए किसी भी तकलीफ में फँस जाते हैं तो वहां कोई भी दूसरा व्यक्ति हमें उस तकलीफ से उबार देता है | जिस समय हमें किसी सहायता कि ज़रूरत होती है तो कोई अनजान अप्रत्याशित रूप से हमारी मदद करके चला जाता है |

 

तो है न ये सम-वेदना अकाउंट के एटीएम का विश्व के किसी भी कोने में होने का प्रमाण ?

 

कई लोग इसे कर्म चक्र भी बोलते है. इसमें कोई संदेह नहीं कि अगर आप बिना स्वार्थ किसी की मदद करते है तो उसका अच्छा फल आपको ज़रूर मिलता है. बस अपने संवेदना अकाउंट में अच्छे कर्मो का लेखा जोड़ते जाईये और बहुत जल्द आपको एहसास होगा कि आपका दिल, दिमाग और शरीर इतना स्वच्छ हो गया है कि आपकी ज़िन्दगी से सभी प्रकार की नकारात्मकता समाप्त हो चुकी है.

 

तोआईये, आज ही इस अकाउंट में अपना नाम लिखवाएँ और शुरू कर दें इस में भलाई की मुद्रा को जमा करवाना |

Pritam Kaur

Pritam Kaur, a graduate with major in Hindi, from Bhagalpur university, Bihar; is a happy and content mother, was a teacher by profession and is a student by choice. Reading is her hobby and writing is her passion. She is a great motivator and want to contribute towards the society in any possible way.

You may also like...

1 Response

  1. Harkeerat Aggarwal says:

    Superb story !!! loved reading it. I would like to read many more stories written by her.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

वेबसाइट देखने के लिए शुक्रिया, शेयर ज़रूर करे !