3 Very Good Moral Stories in Hindi – तीन प्रेरणादायक कहानियां

हमारी जिंदगी में ऐसी बहुत सी घटनाएं होती है जो हमें कोई ना कोई सीख देती है लेकिन हमें से ज्यादातर लोग इन घटनाओं को नजरअंदाज कर देते है। ऐसे में ये good moral stories in hindi आपको और आपके बच्चों को नैतिक मूल्यों को समझने के लिए जरुर पढ़नी चाहिए..

1). हमेशा सोच समझकर बोलना चाहिए – Moral Story in Hindi

एक बार एक किसान और उसके पडोसी के बीच खूब लड़ाई हुई। लड़ाई में किसान ने अपने पड़ोसी को भला बुरा कह दिया, पर जब बाद में उसे अपनी गलती का एहसास हुआ तो वह एक संत के पास गया और उसने संत से अपने शब्द वापस लेने का उपाय पूछा, संत ने किसान की बात सुनकर उसे ढेरों पंख इकठ्ठा करने को कहा, और उन्हें शहर के बीचो-बीच जाकर रखने का आदेश दिया।

संत की बात मानकर किसान ने पंख शहर के बीचों -बीच रख दिए और दोबारा संत के पास पहुंचा। संत ने अब किसान से उन पंखों को वापस लाने को कहा। लेकिन किसान जब उन पंखों को लेने शहर के बीचों बीच पहुंचा तो वहां से सारे पंख उड़ चुके थे। जिस वजह से किसान को खाली हाथ संत के पास जाना पड़ा।

संत के पास जब किसान पहुंचा तो उसने बताया कि उसके जाने तक सारे पंख उड़ चुके थे। फिर संत ने किसान को समझाया कि इसी तरह एक बार मुंह से निकले शब्दों को भी वापस नहीं लिया जा सकता। इसलिए कभी भी किसी को अपशब्द कहने से पहले सोच लेना चाहिए।

ये थी one of the good moral stories in Hindi.

2). दोस्तों को किसी कमी के कारण नहीं छोड़ना चाहिए – Best Moral Story in Hindi

एक फार्म हाउस में दो घोड़े रहते थे। दूर से देखने पर दोनों घोड़े बिलकुल एक जैसे दिखते थे, लेकिन पास जाने पर पता चलता था कि उनमे से एक घोड़ा अँधा है। पर अंधा होने के बावजूद भी उसे उसके मालिक ने वहां से निकाला नहीं था बल्कि उसे और भी अधिक सुरक्षा और आराम के साथ रखा था।

मालिक ने दूसरे घोड़े के गले में एक घंटी बाँध रखी थी, जिसे अँधा घोड़ा घँटी की आवाज सुनकर उस घोड़े के पास पहुंच जाता और उसके पीछे-पीछे बाड़े में घूमता।

घंटी वाला घोड़ा भी अपने अंधे मित्र की परेशानी समझता, और बीच-बीच में पीछे मुड़कर देखता और इस बात को सुनिश्चित करता कि कहीं अँधा घोड़ा रास्ते से भटक ना जाए।

अँधे घोड़े के मित्र की ही तरह हमें भी अपने दोस्तों का साथ कभी इसलिए नहीं छोड़ना चाहिए कि उसमें कोई कमी है। बल्कि अपने ऐसे दोस्तों की ओर ज्यादा मदद करनी चाहिए ताकि उन्हें कभी अकेलापन महसूस ना हो।

3). संगति का असर – Good Moral Story in Hindi

एक बार एक राजा शिकार की तलाश में अपने काफिले के साथ एक जंगल से होकर गुजरा। जंगल में काफी देर तक तलाश करने के बाद भी राजा को दूर-दूर तक शिकार नजर नहीं आया। धीरे -धीरे राजा और उसकी सेना घनघोर जंगल में प्रवेश करते गए।

घने जंगल में जाते ही राजा को डाकुओँ के छिपने की जगह नजर आई ही थी कि इतने में पेड़ पर बैठा एक तोता जोर – जोर से बोलने लगा – पकड़ो पकड़ो एक राजा आ रहा है इसके पास बहुत सारा सामान है लूटो लूटो जल्दी आओ जल्दी आओ. तोते की आवाज सुन सारे डाकु राजा के पीछे भागने लगे।

राजा और उसका काफिला डाकुओं को अपनी ओर आता देख बड़ी तेज भागते हुए एक पेड़ के पास जा पहुंचे। इस पेड़ पर भी एक तोता बैठा था । इस तोते ने राजा को देखते ही बोलना शुरु किया -आओ राजन हमारे साधु महात्मा की कुटी में आपका स्वागत है. अन्दर आइये पानी पीजिये और विश्राम कर लीजिये। तोते की बातें सुन राजा हैरान हो गया । क्योंकि इस तोते का व्यवहार पहले तोते से बिल्कुल अलग था।

तोते की बात मानकर राजा ने साधु की कुटिया में प्रवेश कर लिया। राजा ने कुटिया में प्रवेश कर प्रणाम किया और पूरी बात बताई । फिर साधू से पूछा की दोनों तोतों के व्यवहार में इतना अंतर कैसे?

राजा की बात सुनने के बाद साधु बोले ” ये कुछ नहीं राजन बस संगति का असर है. डाकुओं के साथ रहकर तोता भी डाकुओं की तरह व्यवहार करने लगा है और उनकी ही भाषा बोलने लगा है. जो व्यक्ति या जानवर जिनकी संगति में रहता है उनके जैसा ही व्यवहार करने लगता है।

शिक्षा – अच्छी संगति हमेशा ही सही रास्ते पर ले जाती है।

Read More :

नैतिकता से भरपूर ये प्रेरणायदायक गुड मॉरल स्टोरीज इन हिंदी आप सभी कों जीवन में अहम नैतिक मूल्यों को जानने में मदद करती है । ये तीन गुड मॉरल स्टोरीज इन हिंदी आपको कैसी लगी , कमेंट करके हमें जरुर बताएं ।

You may also like...

3 Responses

  1. Suman says:

    सच में हमें कभी अपने दोस्तों का साथ नहीं छोड़ना चाहिए. हमें सिर्फ इतना ही सोचना चाहिए के अगर वो बुरा वक़्त हमारे दोस्त पर ना आकर हम पर आता तो क्या हम अपने दोस्त के हमसे दूर जाने की उम्मीद करते…
    खैर, बाकी 2 कहानियां भी बहुत, बहुत ही अच्छी लगी मुझे. आपका बहुत बहुत शुक्रिया बच्चों के लिए ऐसी प्रेरणादायक कहानियां शेयर करने के लिए.
    Thanks

  2. arvind says:

    राधे राधे बहुत ही बढ़िया कहानियां लिखते हो आप हमें पसंद है आप की कहानिया पड़ना और हमें भी शौक है कहानियाँ लिखने का लेकिन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *