Real Love Story in Hindi – “ ये प्यार कोई खेल नहीं “

Story Submitted by Raghu Vadla

दोस्तों ये Real Love Story in Hindi मेरे बेस्ट फ्रेंड की है. चूँकि मेरा दोस्त अपने बारे में मुझे सब कुछ बताता था, उसकी इज़ाज़त लेकर ही मैं ये लव कहानी इस वेबसाइट पर पब्लिश करने जा रहा हूँ. मेरे दोस्त का नाम रुपेश है और उसकी गर्लफ्रेंड का नाम तनु. दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करते थे, तनु का तो मुझे पता नहीं लेकिन रुपेश उस लड़की को बहुत प्यार करता है. एक दिन तनु और रुपेश फ़ोन पर बात कर रहे थे कि तनु ने कुछ ऐसा कहा जिसकी उम्मीद रुपेश को कभी नहीं थी.

Real Love story in hindi

तनु: रुपेश…मुझे तुमसे कुछ बात करनी है… लेकिन कसम खाओ कि तुम बुरा नहीं मानोगे.

रुपेश: अरे तनु…मैं तुम्हारी बात का कभी बुरा मान सकता हूँ क्या?? बताओ क्या हुआ

तनु: रुपेश…मुझे लगता है कि अब हमें अलग हो जाना चाहिए, हमारा रिलेशनशिप ठीक नहीं चल रहा और वैसे भी तुम दूसरी caste से हो, पता नहीं हमारे घरवाले मानेंगे भी या नहीं. हमें अब अलग हो जाना चाहिए.

Real Love Story in Hindi

रुपेश को लगा कि तनु मज़ाक कर रही है…

रुपेश: ठीक है, अगर तुम्हे लगता है कि हमें अलग हो जाना चाहिए तो तुम ठीक ही समझती होंगी.

तनु: रुपेश….. मैं सीरियस हूँ, मुझे इस रिलेशनशिप से ब्रेकअप करना है क्यूंकि मैं विक्रांत को पसंद करने लगी हूँ और वो भी मुझे पसंद करता है. और वैसे भी वो सेटल है और मेरे घरवाले इस रिश्ते के लिए मान जाएंगे.

रुपेश 2 मिनट के लिए खामोश हो जाता है, उसे ये सुन कर धक्का लगता है.

रुपेश: तनु….क्या तुम सच बोल रही हो?

तनु: हां रुपेश

रुपेश: क्या विक्रांत तुम्हे मुझसे भी ज़्यादा प्यार करता है?

तनु: हां.. वो मुझे बहुत प्यार करता है.

रुपेश: ठीक है तनु, मैं भी यही चाहता हूँ कि तुम जहाँ भी रहो खुश रहो. तुम्हे ज़िन्दगी में कभी भी मेरी ज़रूरत हो तो मुझे बेझिझक फ़ोन कर लेना.

Real Love Story in Hindi

तनु फ़ोन काट देती है और साथ ही रुपेश को फेसबुक और WhatsApp पर भी ब्लॉक कर देती है. तनु ने तो बड़ी आसानी से ब्रेकअप कर लिया लेकिन अंदर ही अंदर रुपेश जानता था कि इस सदमे से निकलना बहुत मुश्किल होगा.

रुपेश इस ब्रेकअप को बर्दाश्त नहीं कर पाया और उसकी भूख प्यास जैसे ख़त्म हो गयी. रुपेश कमज़ोर हो गया लेकिन उसके दोस्तों ने बड़ी मुश्किल से उसे संभाला और समझाया।

ब्रेकअप के दो महीने तक रुपेश रोता बिलखता रहा लेकिन कुछ समय बाद रुपेश ने अपने हालत से समझौता कर लिया. वो जनता था कि ऐसे पूरी ज़िन्दगी नहीं जी सकता इसलिए अब उसने वो सब करना शुरू कर दिया जो उसने आज तक नहीं किया था और जिसका सपना वो हमेशा देखता था. रुपेश अब एक नया इंसान बन चूका था, वो हर महीने कही ना कही ट्रिप पर जाता था, अपने दोस्तों के साथ मस्ती करता था और खुश रहता था.

Real Love Story in Hindi

कुछ समय बाद एक लड़की उसकी ज़िन्दगी में निशा आयी जो उसे तनु से भी ज़्यादा प्यार करती थी. अब रुपेश अपनी ज़िन्दगी में बहुत खुश था.

1 साल बाद तनु का फ़ोन रुपेश को आता है.

तनु: रुपेश….कैसे हो?

रुपेश: ठीक हो, तुम बताओ कैसी हो और विक्रांत कैसा है?

तनु: रुपेश, मैंने बहुत बड़ी गलती कर दी. अब मुझे पता चल गया कि मुझे तुमसे ज़्यादा कोई प्यार नहीं कर सकता.

रुपेश: क्यों… क्या हुआ?

तनु: विक्रांत ने सिर्फ मुझसे फिजिकल रिलेशन बनाने के लिए मेरा use किया. मैं बहुत परेशान हूँ. क्या तुम मुझसे मिलोगे?

रुपेश: नहीं तनु… अब मैं तुमसे कभी नहीं मिलूंगा. जब तुमने मुझे छोड़ा था तो मेरा हाथ सिर्फ निशा ने पकड़ा जो आज मुझे इस दुनिया में सबसे ज़्यादा प्यार करती है और मैं भी. मैं उसे धोखा नहीं दे सकता. I Am Sorry तनु लेकिन तुम्हे इस मुश्किल घडी से खुद ही निपटना होगा.

तनु: ऐसा मत कहो रुपेश, मैं अब भी तुमसे प्यार करती हूँ.

रुपेश: लेकिन मैं अब तुमसे प्यार नहीं करता तनु, मैं अब सिर्फ निशा से प्यार करता हूँ. Bye and Take Care और प्लीज मुझे दोबारा फ़ोन मत करना. प्यार कोई खेल नहीं तनु !

Real love story in hindi

Real Love Story in Hindi

Read Similar Stories:

जैसे ही रुपेश फ़ोन काटता है और पीछे मुड़ता है तो देखता है कि निशा सब सुन रही थी. रुपेश निशा को सब सच बताता है और फिर निशा रुपेश को गाल पर kiss करती है है और कहती है ” रुपेश….मैं बहुत lucky हूँ कि मुझे तुम मिले और तनु बहुत बदकिस्मती है कि वो तुम्हे पा कर भी पा ना सकी. मुझे तुमसे कोई शिकायत नहीं, मैं तुम्हे हमेशा यूँही प्यार करती रहूंगी क्यूंकि मुझे पता है कि तुम भी मुझे बहुत प्यार करते हो. I Love You Jaan.”

उसके बाद रुपेश ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा और ना ही कभी सोचा कि तनु कैसी है.

दोस्तों, हम आपसे पूछना चाहते है कि क्या रुपेश ने सही किया या गलत. अपनी राय हमें कमेंट में ज़रूर बताये.   

Submit Your Story

Vineet

नमस्ते। मुझे नयी कहानियां लिखना और सुनना अच्छा लगता है. मैं भीड़-भाड़ से दूर एक शांत शहर धर्मशाला (H.P) में रहता हूँ जहाँ मुझे हर रोज़ नयी कहानियां देखने को मिलती है. बस उन्ही कहानियों को मैं आपके समक्ष रख देता हूँ. आप भी इस वेबसाइट से जुड़ कर अपनी कहानी पब्लिश कर सकते है. Like us on Facebook.

You may also like...

1 Response

  1. Harsh says:

    Sahi kiya aisi ladkiyo ke saath aisa hi hona chahiye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *