Author: Prakash Raj

Maa ki Mamta 2

“मां की ममता” Maa ki Mamta Essay in Hindi

माँ एक ऐसा शब्द है जिसे बोलते ही हमारी माँ दौड़ते हुए आती है और हमेशा पूछती है बेटा खाना खाए। लेकिन हम माँ को खाने के लिए कभी कभी पूछते है फिर भी...

16

मैं बोझ नहीं हूं पापा – Beti ki Pukar Poem in Hindi

यह “बेटी की पुकार” एक इमोशनल कविता हैं जो दर्शाती हैं, एक बेटी और पापा के बीच में हो रहे संवाद को। Prakash RajAdd – Mauna Husse Chapra “मां की ममता” Maa ki Mamta...

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते