एक इमोशनल स्टोरी – Best Emotional Sad Love Story in Hindi

Submitted By:-

Saurabh Maurya

Best Emotional Love Story, Poem in Hindi

Best Emotional Love Story, Poem in Hindi

प्रत्युष:-(एक तारे की तरफ इशारा करके) पापा!मम्मी वही हैं ना??प्रत्युष (आठ साल) घर की बालकनी में बैठ कर आसमान को निहार रहा था।तभी उसके पापा ने कंधे पर हाथ रखा।प्रत्युष थोड़ा भावुक  हो गया।

पापा:- हां बेटा (ये कहते बाल सहलाने लगा)

तभी पांच साल की बेटी शिवानी एलबम लेके आई पापा और प्रत्युष के तरफ फोटो करके बोली “देखो पापा!ये चूड़ियां पहन कर मैं मां जैसी ही लग रही हूं ना?”

पापा: हां बिलकुल अपनी मम्मी जैसी।

प्रत्युष: पापा! मम्मी को हम लोग की याद नहीं आती है क्या?

पापा: किसने ऐसा कहा बेटा? देखो वो आसमान से हमें निहारती रहती हैं।

शिवानी: लेकिन कहां वो हमसे मिलती हैं?

पापा: अरे वो आती है रातों में जब तुम सो जाती हो।तुम्हारे बालों में चोटियां बनाती हैं। तुम्हारे लिए अपनी पसंद की चूड़ियां रख जाती हैं। तुम्हारे लिए लोरी बता कर जाती हैं और फिर सुबह भगवान के ऑफिस चली जाती हैं।

शिवानी: (खुश होते हुए) अच्छा मम्मी इतना कुछ करती हैं।

पापा: हां गुड़िया रानी का बहुत ख्याल रखती हैं।

प्रत्युष: लेकिन पापा मुझे मम्मी से मिलना है।

*तभी बारिश होने लगी*

पापा: देखा तुमने कुछ।

प्रत्युष: क्या पापा?

पापा: तुमने मम्मी से मिलने को कहा और वो बारिश के साथ आ गई तुम्हें छूने।

प्रत्युष: सच्ची?

पापा: मुच्ची।

शिवानी और प्रत्युष दोनों खुशी से चहकने लगें। जब दोनों बच्चे सोने गए।

राज मीरा की तस्वीर को छू कर कविता गुनगुनाने लगा

पीड़ा के संदेश भेजें
चटकीले नील गगन में,
तुम्हारी स्मृति के दीप
जलते मेरे नयन में।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते