अनंत और सोनिया की लव स्टोरी Inter Caste Love Story in Hindi

हाय दोस्तों मैं विक्रम आज आपके साथ अनंत और सोनिया की Love Story शेयर करना चाहता हूं। उम्मीद करता हूं यह Story आपको पसंद आएगी।

अनंत और सोनिया की लव स्टोरी Inter Caste Love Story in Hindi

अनंत 12वीं कक्षा में पढ़ता था। वह बिल्कुल ही सिंपल लड़का था वह सिर्फ अपने काम से काम रखने वाले लोगों से ज्यादा बातें नहीं करता। और साथ ही वह मेरा बेस्ट फ्रेंड था वह मुझसे सारी बातें शेयर किया करता था वह दिल का बहुत साफ था और खासकर रिश्तो को निभाने में काफी परफेक्ट था चाहे वह रिश्ता फैमिली का हो लव का हो या फ्रेंडशिप का हो।

उसी दौरान हमारे स्कूल में टीचर की एंट्री होती है। जिनका नाम सोनिया था। अनंत ऐसे तो काफी सिंपल लड़का था और वह अपने लिए भी एक सिंपल लड़की चाहता था। उसका कहना था कि उसे किसी की भी शक्ल या सूरत से कोई मतलब नहीं, बस लड़की दिल की साफ होनी चाहिए।

धीरे-धीरे अनंत सोनिया को पसंद करने लगा। लेकिन वह उससे कभी बात नहीं कर पाता। धीरे-धीर समय बिता। हम लोगों ने 12th क्लास पास कर लिया। पास करने के बाद हमें स्कूल छोड़ना पड़ा, लेकिन सोनिया अब भी वही पढ़ाया करती थी। अनंत का एक छोटा भाई भी था जो कि वही स्कूल में पढ़ता था तो अनंत बार बार उससे पूछा करता कि “मैडम ने मेरे बारे में कुछ कहा ? वह मेरे बारे में कुछ पूछती है क्या? ऐसे सवाल अक्सर वह अपने भाई से किया करता था।

एक दिन उसका भाई उसे बताता है कि हां मैडम तुम्हारे बारे में पूछ रही थी। वह कह रही थी कि एक लड़का था जो कि बहुत ही अच्छा था सब की रिस्पेक्ट करता था। पढ़ाई में ध्यान देता था और बहुत ही सिंपल और बेहतरीन लड़का था जो तेरा भाई था। लेकिन तू कब पड़ेगा? ऐसा कह कर वह मुझे रोज डांटती है और हमेशा मानो तेरा नाम तो उसने रट लिया है, हर बात में तेरा ही एग्जाम्पल देते रहती है।

अब अनंत रोज-रोज स्कूल की तरफ सुबह और छुट्टी का टाइम दोनों समय जाने लगा वह उसे देखकर आ जाया करता पर उसमें इतनी हिम्मत नहीं थी कि वह उसे कह पाता कि, वह उससे प्यार करता है।

लेकिन अचानक उससे पता चलता है कि सोनिया ने स्कूल छोड़ दिया है। इससे वो काफी बेचैन हो जाता है परेशान हो जाता है। लेकिन कुछ दिनों बाद फिर से सोनिया स्कूल जॉइन कर लेती है और जब उसके बारे में पता करता है कि इसके पीछे क्या रीज़न था कि उसने स्कूल छोड़ा। तो उसे पता चलता है कि सोनिया की मॉम की डेथ हो चुकी है और उसके पापा काफी बीमार है। यह सुनकर तो मानो और दुखी हो गया।

इसके बाद वह सोनिया से कांटेक्ट करने के लिए उसका नंबर ढूंढने लगा बहुत मशक्कत के बाद उससे उसका नंबर मिला। और फिर एक दिन उसने हिम्मत करके उसे व्हाट्सएप किया। अनंत ने लिखा “नमस्ते जी” तो उधर से रिप्लाई आया “नमस्ते। कैसे हो तुम?” फिर अनंत ने जवाब दिया कि आपने मुझे पहचान लिया? तो फिर सोनिया ने रिप्लाई दिया हां मैं अपने स्टूडेंट को कैसे नहीं पहचानूँगी। इतना होने के बाद भी अनंत में इतनी हिम्मत नहीं थी कि वह उसे अपने दिल की बात कह पाता।

धीरे-धीरे उन दोनों में बातचीत बढ़ने लगी, तो पता चला सोनिया बहुत परेशान रहती थी। कभी-कभी वह सुसाइड से रिलेटेड बातें भी किया करती थी। लेकिन अब अनंत सोनिया के दिल के करीब आ चुका था। सोनिया अपने दिल की हर बात अनंत के साथ शेयर किया करती थी।

आखिर एक दिन ऐसा आया जब अनंत सोनिया को कहा कि “मैं आपसे बहुत प्यार करता हूं आई लव यू और मैंने जहर खा लिया है मैं मरने वाला हूं।” तभी सोनिया यह सुनकर जोर-जोर से रोने लगी और बोली प्लीज ऐसा मत करो। मैं तुमसे प्यार नहीं करती हूं लेकिन मैं तुम्हारे घर आ रही हूं। लेकिन अनंत तो नौटंकी कर रहा था तभी अनंत ने उसे समझाया। सोनिया को, कि देखिए जैसे आपको मेरी जिंदगी की इतनी फिक्र है इसी तरह आपको भी अपनी जिंदगी की फिक्र होनी चाहिए। आपको मैं जिंदगी कितनी अनमोल है यह बताना चाहता था। जैसे आपको मेरी जान इतनी प्यारी है उसी तरह मुझे भी आपकी जान बहुत प्यारी है। तो कभी भी सुसाइड के बारे में बात मत कीजिएगा वरना मैं सच में जहर खा लूंगा।

इतनी बात करके रात हो गई वह दोनों सो गए और अगले दिन सोनिया ने अपनी प्रॉब्लम अनंत के साथ शेयर की। उसने बताया कि मेरी मम्मी की डेथ हो चुकी है और मां के बिना जीना बहुत अजीब सा लगता है। बताओ मैं क्या करूं। घर में मेरी भाभी मुझसे झगड़ा किया करती है मुझे बहुत सताती है। भाई हर बात में डांटता है। यह सुनकर अनंत उस रात सो नहीं पाया। अगले दिन जब दोनों की बात हुई तो सोनिया ने अनंत को बताया कि कल रात को मैं सो नहीं पाई मैं रात भर रोई हूं, मेरी आंखें भी सूज गई है। तभी अनंत ने कहा कि तुम अकेले नहीं रोयी हो। मैं भी रात भर रोया हूं। अब धीरे-धीरे सोनिया को अनंत पसंद आने लगा। 31 दिसंबर को अनंत का बर्थडे था। बर्थडे पर सोनिया ने अनंत को एक वॉच गिफ्ट कि जिसे देखकर अनंत बहुत ही खुश हुआ।

अब दोनों में बातें बढ़ने लगी। दोनों दिन रात बात किया करते थे। अब सोनिया भी अनंत से प्यार करती थी पर प्यार का इजहार उसने कभी नहीं किया। वह सोचती थी कि अनंत हिंदू है और मैं मुसलमान हूं हम लोग दोनों कभी नहीं मिल पाएंगे। लेकिन अनंत बिना डरे अपने प्यार का इजहार कर दिया करता। वह उसे रोज दिन आई लव यू कहा करता था। लेकिन सोनिया अनंत को समझाती कि हम लोग दोनों अलग कास्ट के हैं हम लोग कभी नहीं मिल पाएंगे। ऐसा सुनकर अनंत का दिल रोज टूट जाया करता और वह सोनिया से कहा करता कि मैंने आपसे प्यार करता हूँ और हमेशा आपसे ही प्यार करूंगा।

अब आया 16 फरवरी का दिन। इस दिन सोनिया ने भी अनंत को प्रपोज कर दिया। उसने उसे “आई लव यू” कहा और जिसे सुनकर अनंत मानो बहुत ही खुश हो गया। धीरे-धीरे दोनों का प्यार हद से गुजरने लगा। दोनों रोज खूब बात किया करते और एक दूसरे से सब खूब सारी खुशियां और सारी प्रॉब्लम भी शेयर किया करते। यहां तक कि वे एक दूसरे को हस्बैंड और वाइफ मानने लगे थे। अनंत सोनिया से कहता है कि तुम अपने भाई से शादी की बात करो। वरना मैं आकर खुद से उनसे शादी की बात करता हूं।

सोनिया ने कभी उसकी बात नहीं मानी। वह अपने भाई के सामने कभी शादी की बात नहीं कर पायी और ना अनंत को करने दी। उसका मानना था कि उसे कुछ बुरा हो जाएगा। उसे डर लगता था कि इसका अंजाम बहुत बुरा होगा। एक दिन सोनिया ने कहा अनंत प्लीज मुझे अपने साथ ले चलो मुझे तुमसे शादी करनी है। लेकिन अनंत शादी नहीं कर सकता था क्योंकि उसकी उम्र मात्र 20 साल थी जबकि मैरिज के लिए 21 साल बहुत जरूरी है।एक प्रॉब्लम यह भी था की दोनों की फैमिली वाले नहीं मानने वाले। लेकिन अनंत चाहता था कि दोनों के परिवार मिलकर दोनों की शादी करवाएं।

सोनिया ने कहा अनंत मैं तुम्हारे बिना मर जाऊंगी। अनंत ने भी कहा कि मैं भी तुम्हारे बिना जीने से अच्छा मरना पसंद करूंगा। लेकिन मैं तुम्हारे साथ भाग नहीं सकता क्योंकि मैं नहीं चाहता कि तुम्हारे ऊपर उंगली उठे। क्योंकि अनंत सोनिया की बहुत इज्जत किया करता था और उसके खिलाफ या उसके बारे में 1 शब्द भी नहीं सुन सकता था। फिर दोनों ने सोचा कि वह अनंत जब 21 साल का हो जाएगा तो वह सोनिया से शादी कर लेगा। लेकिन कुदरत को कुछ और ही मंजूर था।

21 अक्टूबर को जब एक दूसरे से बात कर रहे थे तभी सोनिया के भाई पकड़ लिया और उसने फोन छीन लिया। अनंत ने उसके भाई को बहुत मैसेज किया पर उसने कोई मैसेज का रिप्लाई नहीं दिया। उसके बाद अनंत सोनिया के घर गया लेकिन वहां भी उसे कोई नहीं मिला। वहां कोई नहीं था। उसने बहुत कोशिश कि सोनिया से मिलने का और बात करने का। लेकिन उस लड़की ने कभी भी पलटकर उसे कॉल या उससे मिलने की कोई कोशिश नहीं की।

अनंत ने धीरे-धीरे अपनी उम्मीद छोड़ने लगा और अब उसने अपना खाना पीना भी बंद कर दिया और 1 दिन आनंद ने वही किया जिसे कभी नहीं करना चाहिए था। दोस्तों यह कहानी मुझे उसके डायरी से पता चली। जो मैं आपके सामने शेयर किया।

Also Read More – 

आपके पास भी कोई Sad Love Story in Hindi या  Heart Touching Love Story हो तो हमें सेंड करे। उसे जल्द ही पब्लिश करेंगे।

You may also like...

1 Response

  1. Anant chourey says:

    i does not have words to say about this story,this story enters deep in my heart.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते