दिल को छू जायेगी ये 3 लघु कहानियाँ – Very Short Stories in Hindi Emotional

दोस्तों, हम आपके लिए लाये है कुछ इमोशनल और heart touching Very Short Stories in Hindi. ये कहानिया ज़्यादा लम्बी नहीं लेकिन किसी का भी दिल छू लेंगी. तो आईये पढ़ते है ये तीन लघु कहानिया जो यकीनन आपको अच्छी लगेंगी.  

जब सपने टूटते है… हार्ट टचिंग लघु कहानी

मनोज बचपन से ही राइटर बनना चाहता था लेकिन उसने ये बात कभी अपने पिता जी को नहीं बताई थी क्यूंकि वो डरता था ये सोचकर कि पिता जी क्या कहेंगे.

मनोज ने अपनी 12 वी क्लास पास की तो उसके पिता जी ने कहा “मनोज इंजीनियरिंग की तयारी कर लो, सबसे अच्छे कॉलेज में एडमिशन लेना है, बहुत मेहनत करनी है तुम्हे”

उस दिन मनोज ने सोचा क्यों ना आज हिम्मत करके सच बोल दू और पिता जी को अपने सपने के बारे में बता दू कि मैं राइटर बनना चाहता हूँ.

मनोज ने हिम्मत दिखाई और पिता जी के पास गया और कहा “पिता जी…मैं इंजीनियरिंग नहीं करना चाहता, मैं राइटर बनना चाहता हूँ. मेरे टीचर भी यही कहते है कि मैं एक दिन बहुत अच्छा राइटर बनूँगा”

मनोज के पिता गुस्से में “अरे..ये क्या बोल रहे हो….तुम्हे पता है राइटर कितना कम कमाते है? गुज़ारा कैसे करोगे”

मनोज: पर पिता जी, मैं खुश रहूँगा और यही मैं चाहता हूँ.

मनोज के पिता ने गुस्से में कहा “मनोज…मुझे बहस नहीं चाहिए, जाओ और इंजीनियरिंग एग्जाम की तयारी करो. मैं बाप हूँ तुम्हारा, भले की ही सोचता हूँ”

very short story in hindi

उस दिन मनोज के अंदर का एक सपना टूट गया, बिना पंख फैलाये !

पापा, माँ कहाँ है? – Very Short Stories in Hindi

एक दंपत्ति का कार में एक्सीडेंट हो जाता है जिसमे पति और 1 साल की बच्ची तो बच जाते है लेकिन उस पति की बीवी और बच्ची की माँ की मृत्यु हो जाती है.

अगले दिन पिता अपनी 1 साल की बेटी को गोद में लेकर खिड़की के पास खड़ा था.

बच्ची ने अपनी तोतली जुबां में पिता से पुछा “पापा, मम्मा कहा है?”

पिता ने रोते हुए आसमान की तरफ इशारा करते हुए कहा “मेरे बेटा…वो देख तेरी मम्मा आसमान में है, अब वो वही से तुझे रोज़ प्यार करेगी.”

बेटा, अब हमें सुनता नहीं… Very Short Stories in Hindi

एक NRI बेटा विदेश से 21 सालो बाद घर आया. नौकरी और घर बसाने के चक्कर में वह कभी भारत अपने माँ बाप के पास आ ही ना सका.

और जब 21 सालो बाद घर आया तो उसकी माँ बहुत बूढी हो चुकी थी. आते ही उसने अपनी माँ को गले लगाया और करीब 15 मिनट तक जी भर कर माँ को विदेश का हाल सुनाता रहा, माँ को एक शब्द ना बोलने दिया. माँ भी अपने बेटे को देखते हुए बस मुस्कुराये जा रहे थी, बोली कुछ नहीं.

15 मिनट बाद जब बेटे ने अपनी माँ का हाल पुछा तो माँ ने बेटे को प्यार करते हुए कहा “चाहे, अब मैं सुन नहीं सकती लेकिन तसल्ली है कि मरने से पहले तुझे देख लिया”

बेटा का दिल ऐसा भरा कि फिर उसके आंसू ना रुके.

Emotional Hindi Kahani

विदेशो में बसे मेरे भारतीय भाईयो, अपनी मिटटी, अपनी माँ का हाल देखने आते रहा करो यारो ! 

Read More:

दोस्तों, हमें यकीन है कि ये 3 Very Short Stories in Hindi आपके दिल को छू गयी होगी. अपनी प्रतिक्रिया हमें कमेंट में ज़रूर दे और इन इमोशनल हिंदी कहानियों को शेयर अवश्य करे.

Submit Your Story

Vineet

नमस्ते। मुझे नयी कहानियां लिखना और सुनना अच्छा लगता है. मैं भीड़-भाड़ से दूर एक शांत शहर धर्मशाला (H.P) में रहता हूँ जहाँ मुझे हर रोज़ नयी कहानियां देखने को मिलती है. बस उन्ही कहानियों को मैं आपके समक्ष रख देता हूँ. आप भी इस वेबसाइट से जुड़ कर अपनी कहानी पब्लिश कर सकते है. Like us on Facebook.

You may also like...

1 Response

  1. Story says:

    Very Nice Story, Keep it Up !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *