जब माँ को मेरे ड्रग्स का पता चला.. Drug Addiction Story in Hindi

Friends ye article on drug addiction in Hindi likhne ka maksad sirf yahi hai ki aap drugs se door rahe kyunki drugs ki taraf pehla kadam bhi aapki zindagi destroy kar sakta hai. Isliye kabhi bhi bhool kar bhi kisi nashe ya drugs ko try na kare.

 

Drug Addiction Story in Hindi Submitted by Sachin Sohal

मैं वैसे इंदौर का रहने वाला हू लेकिन पढ़ने के लिए मैं दिल्ली आया था. अभी कॉलेज ज्वाइन किये मुझे 4 महीने ही हुए थे कि सिगरेट की आदत लग गयी. अपने कॉलेज से कुछ ही दूरी पर मैंने एक कमरा किराये पर ले रखा था. सिगरट की इतनी बुरी आदत लगी कि मैं दिन में 2 पैकेट पी जाता था. एक दिन मेरे कमरे में कॉलेज का एक फ्रैंड आया. उसके पास पाउडर और 2 इंजेक्टों वाली सुइये (injection needles) थी. वो पाउडर दरअसल हेरोइन थी. उस लड़के ने मुझे बताया कि हेरोइन का सिर्फ एक शॉट लगाने से ही जन्नत की सैर हो जाती है. मैं जवान था और बहक गया. मैंने दिल में सोचा कि सिर्फ एक बार हीरोइन के इस्तेमाल से क्या होगा… बस ये सोचकर मैंने कर दी अपनी ज़िन्दगी की सबसे बड़ी गलती।

 

Drug Addiction Story in Hindi

 

उस दिन के बाद मुझे हीरोइन की ऐसी लत लगी कि क्या बताऊ. अब तो मेरा हर पल बस यही सोचने में निकलता था कि हीरोइन कैसे मिली जाए. कई बार तो मैं 5 – 5 दिन का कोटा साथ में खरीद लेता था ताकि कमरे से बाहर ना जाना पड़े.

Drug addiction story in Hindi

मेरा कॉलेज ख़त्म होने को आया था. मैं अपने कमरे में सोया हुआ था कि दरवाज़े पर दस्तक हुई. मैंने सोचा कि कोई दोस्त होगा लेकिन जब कमरा खोला तो माँ सामने खड़ी थी. माँ ने अंदर आते ही मेरी हेरोइन वाली इंजेक्शन की सुई देख ली जो कि बेड पर पड़ी थी. मेरे हाथ पैर फूलने लगे थे…

 

Drug Addiction Story in Hindi

 

माँ ने ये सब देख कर मुझसे पुछा “कितने टाइम से तुम ये सब कर रहे हो?”

 

मैंने सब सच बता दिया और कहा कि तीन साल से…

 

माँ ने मेरा हाथ पकड़ा, मेरा बैग पैक किया और अपने साथ घर चलने को कहा..

 

मैंने माँ से बहुत मिन्नतें की और कहा कि मैं आगे से ये सब नहीं करूँगा लेकिन माँ ने मेरी एक ना सुनी और अपने साथ घर ले आयी.

 

दिल में मुझे कही ना कही पता था कि अगर मुझे हीरोइन एक दिन भी ना मिले तो मेरा हाल बहुत बुरा होगा और वैसा ही हुआ. घर में एक दिन के बाद हीरोइन की तालाब लगने लगी. मैंने जैसे तैसे एक दिन और गुज़ारा लेकिन अगले ही दिन मेरे शरीर में तेज़ दर्द उठने शुरू हो गए. पूरे बदन में तेज़ दर्द होने लगा और हालत ऐसी हो गयी कि बेड से उठना भी मुश्किल हो गया. एक हफ्ते तक ऐसा ही चलता रहा लेकिन एक हफ्ते के बाद मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ. मैंने अपनी माँ और भाई को गालियां देनी शुरू कर दी और उनसे भेख मांगनी शुरू कर दी ताकि वो कही से मुझे हीरोइन ला कर दे दें.

 

Drug Addiction Story in Hindi

 

मुझे इतना पसीना आता था कि पूरा बेड गीला हो जाता था. मैं दर्द और तालाब से चीखता चिल्लाता था. मेरे पिता ने मुझसे बात करनी छोड़ दी थी और उन्होंने तो मुझे घर से निकल जाने तक को बोल दिया था लेकिन मेरी माँ ढाल बन कर मेरे आगे खड़ी रही. मुझे नींद नहीं आती थी और कभी अगर आ जाये तो अजीब से सपने आते थे.

 

मैंने अपनी माँ को हर वो गलत बात कही जो मुझे कभी नहीं केहनी चाहिए थी. मैंने अपनी माँ और भाई को इतना कोसता और उन्हें गालियां देता था क्यूंकि वो मुझे कही बाहर नहीं जाने देते थे. मैंने हर वो मुमकिन कोशिश की अपने घरवाले को मनाने की ताकि वो कही से मुझे ड्रग्स ला कर दे दें लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

 

Drug Addiction Story in Hindi

 

फिर कुछ दिनों के बाद मेरी माँ किसी डॉक्टर से पूछ कर कुछ दवाये लेकर आयी जिन्हे लेने के बाद मेरा दर्द काफी कम हो गया था. लेकिन ड्रग्स की तालाब अभी भी मेरे अंदर थी. मेरा भाई चाहता था कि मुझे नशा छोड़ केंद्र में भर्ती किया जाए लेकिन समाज के डर से मेरी माँ न ऐसा नहीं किया. माँ की लायी हुई दवाओं से मेरी हालत में काफी सुधर होने लगा और 2 हफ्तों बाद काफी तंदरुस्त महसूस करने लगा.

 

Drug Addiction Story in Hindi

 

जब मैं थोड़ा ठीक हुआ तो मुझे डिप्रेशन हो गया. मैं सोच रहा था कि मैंने अपनी ज़िन्दगी के साथ ये क्या कर लिया. मैंने अपना परिवार रिश्ते नाते सबको दुःख दिया और मुझे लग रहा था कि शायद मैं इस जनझाल से कभी बाहर नहीं निकल पाऊंगा. लेकिन 3 महीने के बाद आखिर मेरा डिप्रेशन कम हुआ.

 

एक दिन मेरे दोस्त ने मुझे अपनी नयी जॉब लगने की पार्टी में बुलाया। मुझे माँ ने जाने तो दिया लेकिन मुझसे वादा भी माँगा कि मैं वहां कोई नशा नहीं करूँगा. जब मैं पार्टी में पहुंचा तो मेरे कुछ दोस्त हीरोइन लगा रहे थे और उस वक़्त मुझसे रुका नहीं गया. मैंने अपनी माँ का वादा तोड़ कर हीरोइन पी और होश आने के बाद ही घर गया.

 

Drug Addiction Story in Hindi

 

मैं अब हीरोइन पीटा हू लेकिन ज़्यादा नहीं. इस ड्रग की तालाब ऐसी है कि छुटती ही नहीं, शायद मेरी जान लेकर ही जायेगी.

 

दोस्तों, मेरी आप सभी से विनती है कि हीरोइन जैसे नशे से मीलो दूर रहे. गलती से एक बार भी TRY मत करना क्यूंकि ये इतनी ADDICTIVE है कि एक बार में आदमी को आदत लग सकती है. मेरी कहानी सुनकर आपको पता चल गया होगा कि ये नशा आपकी ज़िन्दगी और आपके घरवालों की दुनिया पूरी तरह तबाह कर सकता है. इसलिए कृपया ऐसे नशे से दूर रहे और दुसरो को भी सचेत करे.

धन्यवाद

Submit Your Story

ये भी पढ़े:

जब अपने से बड़ी लड़की से प्यार हुआ – मस्तभरी मस्ती की कहानी

पंचमढी की यात्रा – Travel Story in Hindi

Mere BF ne Mujhe Baaho me Lekar…..Best Romantic Story in Hindi

Shimla to Manali – Honeymoon Hindi Romantic Kahani

पत्नी की इन आदतों की वजह से रोज़ बोलता हू उसे I Love You
Beer ke Ilava Ye Hai Mere Baaki Shaunk – Komal Rathee
जब टॉयलेट में Labour Pain शुरू हो गया, शुक्र है कार में डिलीवरी नहीं हुई
जानिये क्यों है मेरे पति दुनिया के Best Husband – कनिका मित्तल
पीरियड्स (Menses) नहीं आफत !!… Period Pain Story in Hindi
समाज ने मर्द को कही का ना छोड़ा – Short Sad Story in Hindi
तो क्या हुआ अगर मैं मोटी हू, Size Zero से तो अच्छी ही हू – Ketki Subhash
Kuch Ladko ki Soch Ladkiyo ke Liye Kabhi Nahi Badal Sakti

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते