मेरी अधूरी कहानी – Meri Adhuri Kahani Love Story

नमस्ते दोस्तों, मेरा नाम रूपकुमार है ओर में आज आपको मेरे प्यार की कहानी बताने जा रहा हूं । एक लड़की थी श्वेता , में उसे अपनी जान से भी ज्यादा चाहता था । हमेशा उसके बारे में सोचता रहता था । उसका मुस्कुराता चेहरा मेरे जीवन में एक नई उमंग हुआ करता था। मैंने हमेशा उसके साथ जीवन जीने की कल्पना की थी । में उसके साथ जीना ओर मरना चाहता था । लेकिन ये हो नहीं सका ।

Meri Adhuri Kahani Love Story

मैंने उसे पहली बार मेरे स्कूल में 5 वी क्लास में देखा था । वो मेरी ही क्लास में थी । हम दोनों ने 7 वी क्लास तक साथ में ही पढ़ाई की । दोनों एक ही क्लास में पड़ते थे । बाद में मेरा स्कूल चेंज हो गया । जब मैने उसे पहली बार देखा तभी मेरे दिल में कुछ कुछ हुआ । ओर समय के साथ साथ मेरा प्यार बढ़ता गया । वो मेरी ही कॉलोनी में रहती थी । मैं रोज उसे देखने के लिए उसकी गली से निकलता था । जिस दिन उसे ना देखू मुझे चैन नहीं आता ।

Meri Adhuri Kahani Love Story

मेरी श्वेता से अपने जीवन में केवल 16 बार बात की है ।  लेकिन मेरी बचकानी हरकतों के कारण में उसे ये अहसास नहीं दिला पाया कि में उसे कितना प्यार करता हूं । मैंने उसका 9 साल इंतजार किया ओर 9 साल तक रोज उसको देखा था । मैं जब भी उसको देखता वो मुझे ओर ज्यादा सुंदर लगती । मेरे लिए वो दुनिया की सबसे हसीन लड़की थी । मैंने उसे तीन बार प्रपोज भी किया लेकिन उसने हमेशा मना कर दिया । लेकिन एक दिन मुझे पता चला कि वो राजेश नाम के किसी लड़के से प्यार करती है ।

मेरा तो दिल ही टूट गया मुझे यकीन नहीं हुआ । लेकिन एक दिन खुद राजेश मुझसे मिलने आया तब मैंने उसे पहली बार देखा । राजेश ने कहा कि वो ओर श्वेता एक दूसरे को प्यार करते है । ओर मुझे श्वेता ने है तुम्हारे पास भेजा है । मैं उस दिन अपने आप से हार गया ओर मेरा दिल टूट गया

Meri Adhuri Kahani Love Story

मैंने राजेश को कहा कि आज के बाद में श्वेता को कभी नहीं देखुगा ओर उस दिन के बाद मैंने उसे कभी नहीं देखा ।ओर उसे हमेशा हमेशा के लिए छोड़ दिया । तीन साल बाद राजेश ओर श्वेता की शादी हो गई । आज उससे बिछड़े 17 साल हो गए है पर आज भी उसका चेहरा मेरे दिल में ताजा है । जब भी उसका हसता हुआ चेहरा याद आता है तो कभी कभी आंखो में आंसू आ जाते है । शायद ही कोई दिन रहा हो जब मैंने श्वेता को याद ना किया हो ।

बस भगवान से यही दुआ है कि वो हमेशा खुश रहे ओर कभी कोई ग़म ना जो भगवान इस जन्म में ना सही लेकिन अगले जन्म हर जन्म में श्वेता को मेरी ही बनाना । बस यही भगवान से विनती करता हूं । ना जाने क्या था उसके चेहरे में भुलाए नहीं भूलता । शायद यही प्यार है । ये है मेरी अधूरी कहानी जो आज भी दिल में ज़िंदा है ओर हमेशा रहेगी।

Written By –

Roopkumar kushwah

Also, Read More Stories:-

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते