एक घंटे की कीमत – Best Heart Touching Story in Hindi

आज कल की प्राइवेट जॉब में व्यक्ति इतना busy हो गया है कि उसे अपने घर परिवार और यहाँ तक कि अपने बच्चो तक के लिए वक्त नहीं रहा. हम जो कहानी आपको सुनाने जा रहे है वो है दुनिया की best heart touching story in Hindi. अगर आप कोई भी नौकरी खासकर प्राइवेट job करते है तो इस शार्ट स्टोरी को ज़रूर पढ़े.

रोहित की एक सुन्दर पत्नी है और 5 साल का प्यारा सा बेटा है. रोहित अक्सर अपने काम की वजह से घर देरी से पहुँचता है. ज़्यादातर जब वह घर पहुँचता है तो या थका हुआ होता है या परेशान होता है. इससे उसके घरवाले भी काफी परेशान रहते है लेकिन क्या करे..प्राइवेट job तो ऐसी ही होती है. देर तक काम करना पड़ता है.

एक दिन रोहित अपने काम से थका हारा घर पहुंचा और आते ही सोफे पर लेट गया. तभी उसका 5 साल का बेटा उसके पास आया और बोला “पापा आप आज जल्दी आ गए? मेरे साथ खेलोगे?”

रोहित बहुत थका हुआ था, उसने साफ़ मना कर दिया और अपने बेटे को जा कर सोने के लिए कहा.

बेटे ने फिर जिद करते हुए कहा “पापा मेरे साथ drawing करो ना.. पहले जब हम साथ में drawing करते थे तो कितना मज़ा आता था”

Best Heart Touching Story in Hindi

इस बार रोहित ने उसे डांट कर अंदर कमरे में भेज दिया लेकिन कुछ देर बाद रोहित अपने बेटे के कमरे में गया. उसका बेटा रो रहा था. रोहित ने अपने बेटे के सर पर हाथ फेरते हुए कहा कि बेटा मैं बहुत थका हुआ था इसलिए गुस्से में डांट दिया… I am Sorry.

ये सुनते ही बेटा अपने bed पर से उठ कर बैठ गया और पुछा ” पापा आप एक घंटे में कितना कमाते हो?”रोहित ने कहा कि मैं एक घंटे में Rs 1000 कमा लेता हूँ. कुछ देर बाते करते-करते बेटे की आँखों में नींद भर आयी और वह सो गया.

अगले दिन रोहित को काम से घर आने में काफी देर हो गयी. जब रोहित घर पहुंचा तो उसने देखा कि उसका बेटा अभी भी जाग रहा है. रोहित के घर पहुँचते ही उसके बेटे ने कहा “पापा मुझे Rs 500 रुपये देना” रोहित ने फिर बेटे को डांट दिया और कहा कि तुम्हारे फालतू खर्चो के लिए मेरे पास पैसे नहीं, ज़रूर तुमने कोई बाजार में खिलौना देखा होगा और वो लेने की सोच रहे हो. उसके बेटे ने फिर ज़िद करते हुए कहा “पापा please मुझे Rs 500 दे दो” इस बार रोहित को गुस्सा आ गया और उसने डाँट कर उसे अंदर जा कर सोने के लिए कहा और कहा कि कल स्कूल के लिए उठना है अभी जाओ और सो जाओ.

बेचारा बेटा रोते हुए अंदर चला गया और लेट गया.

थोड़ी देर बाद रोहित को एहसास हुआ कि उसने बेटे को कुछ ज़्यादा ही डांट दिया, अपने office का stress उस पर निकाल दिया. रोहित अपने बेटे के कमरे में गया और अपने बेटे के सर पर हाथ फेरते हुए पूछा कि अच्छा बताओ तुम्हे Rs 500 किस लिए चाहिए।

बेटा तुरंत उठ कर बैठ गया और कहा. उसने कहा कि पहले मुझे Rs 500 दो, रोहित ने जेब से निकल कर बेटे के हाथ में थमा दिए. बेटे ने अपने तकिये के नीचे से Rs 500 रुपये और निकाले और अपने पापा को दे दिए. रोहित ने पूछा जब तुम्हारे पास पहले ही Rs 500 है तो तुम मुझसे क्यों मांग रहे थे.

रोहित के बेटे ने कहा “पापा आप एक घंटे में Rs 1000 रुपये कमाते हो, ये हज़ार रुपये रख लो और कल अपने काम से एक घंटा पहले आ जाना ताकि हम दोनों एक साथ drawing कर सके.”

इतना सुनते ही रोहित की आँखों से पानी छलकने लगा और उसने बेटे को गले लगा लिया. उस दिन रोहित को एहसास हुआ कि ज़िन्दगी की भाग-दौड़ में उसने क्या खोया है.

Also Read More :

दोस्तों ये कहानी (Best Heart Touching Story in Hindi) सिर्फ रोहित और उसके बेटे की नहीं बल्कि हम सब की है. ये मेरी विनती है कि अपने परिवार, अपने बच्चो के लिए थोड़ा वक्त ज़रूर निकाले. वो मासूम सिर्फ आपका साथ चाहता है और अगर आप वो भी ना दे पाए तो इस ज़िन्दगी का क्या मायना रह जायेगा.

You may also like...

1 Response

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते