“आखिर अमीर कौन?” Very Heart Touching Story in Hindi

एक दंपत्ति किसी बड़े होटल में ठहरने के लिए गए. उन्होंने एक आलिशान कमरा किराये पर लिया। कुछ देर बाद उनके बच्चे को भूख लगी तो महिला ने सोचा कि होटल में किसी से दूध के बारे में पूछ लू. वह जल्दी से होटल के रिसेप्शन पर गयी और कहा कि मेरा बच्चा भूखा है, मुझे दूध चाहिए. रिसेप्शन पर खड़े आदमी ने कहा जी मैडम बिलकुल मिल जाएगा. औरत ने पुछा कितने का है? आदमी ने कहा कि एक गिलास दूध Rs 200 का है. महिला ने कहा “ठीक है दे दो” महिला ने अपने बच्चे के लिए ज़्यादा दूध लिया और जिसका मूल्य होटल वालो ने Rs 1000 लगाया।

 

दो दिन बाद वह दंपत्ति अपनी छुट्टियां बिता कर घर जा रहे थे. रास्ते में उनके बच्चे को भूख लग आयी और वह रोने लगा. महिला का पति जो गाडी चला रहा था, उसने कहा कि यहाँ तो कोई अच्छी दुकान नहीं, आगे चल कर देखते है. थोड़ी देर गाडी चलाने पर बच्चा बहुत ज़ोर से रोने लगा. बच्चे की माँ परेशान हो गयी और कहा कि जो भी पहली दुकान आये वही रोक लेना.

महिला के पति ने थोड़ी ही दूरी पर एक छोटी सी दुकान पर गाडी रोकी. वह दुकान बिलकुल एक झुग्गी झोपडी की तरह थी. वहां एक बूढ़ा आदमी था. महिला ने उस आदमी को कहा कि भईया मुझे अपने बच्चे के लिए दूध चाहिए, क्या एक गिलास दूध मिल सकता है? उस बूढ़े दूकानदार ने कहा “जी ज़रूर, अभी रुकिए मैं गरम कर के देता हूँ” 2 मिनट बाद उस दूकानदार ने महिला को दूध दिया और उस औरत ने जल्दी से अपने बच्चे को  दूध पिलाया जिसे पी कर बच्चा फ़ौरन शांत हो गया और सो गया.

 

महिला ने उस बूढ़े दूकानदार से कहा “भईया दूध के पैसे कितने हुए?”

दूकानदार ने कहा “आपने एक बच्चे को दूध पिलाया है जिसके मैं पैसे नहीं लेता”

उस दूकानदार ने महिला को कहा कि अगर आपको रास्ते के लिए और दूध चाहिए तो मैं दे सकता हूँ.

उस बूढ़े दूकानदार की बाते सुनकर दंपत्ति भी सोच में पढ़ गया कि आखिर अमीर कौन है… वो 5 स्टार होटल वाले या ये बूढा दूकानदार.

 

दोस्तों ये है आज के युग की सच्चाई. कागज़ के टुकड़े (रुपये) कमाने के लिए हम इंसानियत भूलते जा रहे है लेकिन कई ऐसे लोग भी है जिनमे इंसानियत अभी ज़िंदा है. अगर आपको कभी भी कोई ऐसा व्यक्ति मिले जिसकी इंसानियत देख आपको ख़ुशी मिली हो तो इस कलयुग में भी उसे कभी अपनी यादों से मिटायें नहीं. उससे बातें करे और हो सकते तो उसकी मदद ज़रूर करे. आज के युग में ऐसे व्यक्ति बड़ी मुश्किल से मिलते है.

ये भी पढ़े:

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते