सेल्फी ने कर दिया बर्बाद – Emotional Story in Hindi Language

ये Emotional Story in Hindi Language आज के युग की सबसे बड़ी बीमारी “Selfie” पर आधारित है. तो आईये पढ़े है ये इमोशनल स्टोरी:

सोनिया की बेटी रिया का आज तीसरा जन्म दिन था. आस पास के सभी पडोसी और कुछ रिश्तेदार भी आये थे. जैसे ही केक आया तभी केक के चार-पांच फोटो खींच लिए गए. रिया किसी को केक खिलाती इससे पहले और चार-पांच फोटो खींचे, मुंह खुला रह गया सबका. जब केक मुंह में गया फिर कुछ पिक्स क्लिक हुई. उधर रिश्तेदार भी अपनी-अपनी सेल्फी लेने में व्यस्त थे.

कोई बात नहीं माहौल में, सभी सेल्फी लेने में व्यस्त है. ऐसा लग रहा था जैसे सभी अपनी लाइफ सोशल मीडिया पर जी रहे थे.

पढ़े “मेरी रानी बिटिया तो राज करेगी” Emotional Story in Hindi Language

मेरी फ्रेंड ऋतू की शादी थी. हर रस्म में वो फोटो खिंचवाने में व्यस्त रही, उसे ये भी नहीं पता चला की कौन आया और कौन गया. अपनी मेमोरी के लिए कुछ पिक्स निकलना तो ठीक है लेकिन रस्मो का पता भी ना चले, ये तो गलत बात है.

सेल्फी ने बर्बाद किया Emotional Story in Hindi Language

आजकल लोग वर्तमान के पल को ना जीकर सोशल मीडिया के लिए पिक्स निकालने में लगे है. ऐसा लगता है जैसे ज़िन्दगी तो बस फोटो निकलने के लिए रह गयी. कई फोटोस तो हम देखते भी नहीं लेकिन हम उस पल को पूरी तरह खो देते है.

पढ़िए “बेटी तुम सिर्फ विदा हो रही हो लेकिन कभी परायी नहीं होगी” Emotional Story in Hindi Language

चाहे कोई पार्टी हो या कोई पिकनिक, बस सेल्फिएस लेनी है ताकि सोशल मीडिया पर दिखा सके. आजकल लोगों को इसी में आनंद मिलता है.

होटल में खाना खाने गए, खाने से पहले अपनी पिक्स खींचेंगे और फिर खाने के बाद, अरे अपनी ख़ुशी के लिए आप क्या कर रहे हो??

पिक्स लेने में तो कोई बुरे नहीं लेकिन कम से कम उस लम्हे को तो अच्छे से जी लो. आजकल आप अपने लिए जीते हो या सिर्फ सोशल मीडिया के लिए. ज़िन्दगी आपकी है, सोशल मीडिया की नहीं, आप जिस लम्हे को जी रहे है उसे महसूस तो करे.

पढ़े “पतिदेव…कभी तो इस स्मार्टफोन को छोड़ दो” Emotional Story in Hindi Language

यकीनन, अच्छे समय की पिक्स खूबसूरत मेमोरी है लेकिंन उसके लिए अपने आज के लम्हे को बर्बाद ना करे.

मेरी फ्रेंड रीना की बेटी मोना पार्क में गयी और वहां उसकी माँ उसे झुला झूलते हुई की तरह तरह की फोटोस क्लिक करने में व्यस्त है. इस चक्कर में वो अपनी बेटी की ख़ुशी भी नहीं देख पा रही और इस बात पर उसकी बेटी नाराज़ हो जाती है. ना तो उसकी मम्मी को ख़ुशी महसूस हुई और ना उसकी बेटी को. क्यों हम सोशल मीडिया के चक्कर में अपने वर्तमान की ख़ुशी खो रहे है.

अपने भविष्य के लिए सोचना किसी हद तक ठीक है लेकिन उसके लिए अगर हम अपने वर्तमान की बलि दें दे तो ये बिलकुल गलत है. आजकल हर तरफ सोशल मीडिया के लिए पिक्स खींचने की जैसे होड़ लगी है और ये बहुत गलत हो रहा है.

तो दोस्तों ये थी एक लाजवाब Emotional Story in Hindi Language और हमें यकीन है कि ये हिंदी स्टोरी आपको अच्छी लगी होगी !

ये भी पढ़े:

हेलो दोस्तों, आपके पास भी कोई Emotional कहानी हो तो हमें भेजे, जल्दी आपके नाम के साथ पब्लिश किया जायेगा।

You may also like...

5 Responses

  1. Preeti says:

    Very interesting writting style. You can read some emotional stories on zindagisebaat.com

  2. Satya says:

    भाई हम यहाँ एक इमोशनल लव स्टोरी पढ़ने आये थे न कि कोई प्रवचन सुनने ये प्रवचन कही और किसी और website पर अपलोड करो यह पर नहीं।

  3. Tk says:

    Han Hamen Jrurt se Jyada selfie leni Nahin chahie

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते