घर में बर्तन है तो आवाज़ आएगी ही – Relationship Story in Hindi

Relationship Story in Hindi

Submitted by Romi Gill

हर्षित और गुंजन की शादी को 2 साल हो चुके है. एक दिन किसी बात पर दोनों के बीच झगड़ा हो गया. दोनों के बीच बहुत कहा सुनी हुई. हर्षित ने कहा “मैं अब तुम्हारे साथ एक पल भी नहीं रहना चाहता”. गुंजन भी गुस्से में थी, वो भी बोल पड़ी “ठीक है, मैं भी इतने झगड़ालू पति के साथ नहीं रह सकती, जा रही हूँ मैं मायके”.

Relationship Story in Hindi

गुस्से में हर्षित ऑफिस के लिए बिना खाये ही निकल गया. गुंजन का गुस्सा अभी शांत नहीं हुआ था, उसने झट से अपनी माँ को फ़ोन लगाया और कहा “माँ…मैं आ रही हूँ घर, मैं नहीं रह सकती अब इनके साथ. हमारी लड़ाई हो गयी, मैं बस बेटे के साथ आ रही हूँ”

उधर माँ को भी गुस्सा आ गया… “तेरी बहन भी ऐसे ही एक छोटी सी बात पर अपने पति से लड़ कर आयी थी, देख अभी तक घर ही बैठी है. तुम दोनों के बीच जो भी हुआ है, उसे शांति से सुलझाओ, पति पत्नी में झगड़ा तो होता ही रहता है” माँ ने गुंजन को समझते हुए कहा.

Relationship Story in Hindi

गुंजन ने फिर कहा “माँ आज इन्होने एक छोटी सी बात पर इतना बतंगड़ बना दिया, मुझे बहुत बुरा भला कहा, मुझे नहीं रहना अब”

माँ ने कहा “देख बेटी…घर में बर्तन है तो वो खड़केंगे ही, अगर वो गुस्सा करता है तो तुझे शांत रहना चाहिए. अगर तुम दोनों ही एक दूसरे पर चढ़ जाओगे तो बात तो बिगड़ेगी ही. और वैसे भी दामाद जी इतने बुरे तो नहीं. आ गया होगा गुस्सा, प्यार से समझा”

माँ ने फ़ोन रखा तो गुंजन ने रो कर अपने दिल की भड़ास निकली. कुछ देर बाद उसे लगा कि सारी गलती पति की भी नहीं थी, मेरी भी गलती थी. थोड़ा गुस्सा शांत हुआ तो उसे समझ आ गया कि पति इतने भी बुरे नहीं. बस फिर हाथ मुंह धो कर वो खाना बनाने लग गयी. सोचा कि आज पति के पसंद का खाना बनाउंगी और जब वो ऑफिस से घर आएंगे तो माफ़ी मांग लूंगी. बस ये सोच कर गुंजन ने मटर पनीर बनाया और जब शाम को पतिदेव घर आये तो हँसते हुए उनका स्वागत किया.

Relationship story in hindi

Relationship Story in Hindi

पति खाना खाते हुए गुंजन से बोले ” गुंजन मुझे माफ़ कर देना…गलती मेरी है जो मैं आज सुबह तुम पर बरस पड़ा. ऑफिस में काम का स्ट्रेस आजकल ज़्यादा है बस स्लिये थोड़ा चिड़चिड़ापन रहता है. तुम्हारी कोई गलती नहीं थी..गुंजन सुनो अगर मुझे कभी गुस्सा आ जाये तो तुम बुरा मत माना करो, तुम्हे पता है ना कि मैं तुमसे कितना प्यार करता हूँ और हां घर छोड़ने की बात आगे से कभी मत करना “

गुंजन ने भी हँसते हुए कहा “आप भी मुझे छोड़ने की बात कभी मत करना”

गुंजन की आँखों से आंसू आ गए और वो सोच रही थी माँ की एक सलाह के कारण आज उसका घर टूटते टूटते बच गया. अगर माँ सख्ती से गुंजन को ना समझती तो अनर्थ हो सकता था.

Relationship Story in Hindi

दोस्तों, आजकल हर माँ बाप अपनी शादीशुदा बेटी के घरेलु मामले में बहुत नोक झोंक करते है. वे बेटी का एक भी दर्द बर्दाश्त नहीं कर सकते लेकिन ये गलत है. रिश्तो में अगर झुकना पड़े तो कोई बात नहीं, आखिर है तो वो अपने ही. पति पत्नी में किसी एक को शांत व्यवहार ज़रूर रखना चाहिए वरना स्थिति हाथ से निकल जाती है. हमने कई बार देखा है कि अगर पति अपनी पत्नी को ज़रा सा कुछ बोल भी दे तो लड़की के माँ बाप लड़के को बुरा भला बोलना शुरू कर देते है बिना कोई वजह जाने.

Read More:

पति पत्नी में चाहे जैसा भी झगड़ा हो, उसे उन दोनों पर छोड़ देना चाहिए. कई बार अहम् की वजह से पति पत्नी जैसा पवित्र रिश्ता भी पल में टूट जाता है.

धन्यवाद 

दोस्तों यह Relationship Story in Hindi आपको केस लगी हमें, बताये और आपके पास भी Relationship Story in Hindi होगी और शेयर करना चाहते हैं, तो हमें भेजे.

Submit Your Story

2 Responses

  1. Tk💖 says:

    Very very very nice

  2. Montahina says:

    Ossm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते