क्या पैसो से ख़ुशी खरीदी जा सकती है? Short Story on Happiness in Hindi

पैसे या रुपये के कितने सारे नाम है.

 

अगर किसी मंदिर या गुरुदुवारे में दे तो इन पैसो को दान कहा जाता है…

 

अगर स्कूल में दे तो फीस कहा जाता है…

 

अगर पैसो को शादी में दिया जाए तो दहेज़ कहा जाता है…

 

अगर किसी को पैसे देने हो तो क़र्ज़ कहा जाता है..

 

अगर पैसे सरकार को देने हो तो टैक्स कहा जाता है…

 

अगर नौकरी के बाद पैसे मिले तो पेंशन कहा जाता है…

 

अगर कोई बॉस अपने नौकर को पैसे दे तो तनख्वाह कहा जाता है…

 

अगर कोई बैंक से पैसे उधार ले तो इसे लोन कहा जाता है..

 

अगर आप पैसो से किसी की सेवा करते है तो…….. उसे कहते है ख़ुशी।

Short Story on Happiness in Hindi

 

दोस्तों अगर किसी के पास बहुत सारे पैसे है तो इसमें कोई बुराई नहीं लेकिन दिक्कत तब होती है जब पैसे आपके व्यक्तित्व पर हावी होने लगे.

 

खूब पैसे कमाईये, अपनी ज़रूरतों को पूरा करे लेकिन अपने पैसे को अगर आप दुसरो की सहायता करने में भी इस्तेमाल करेंगे तो उसमे जो ख़ुशी मिलेगी वो आपको पूरी कायनात में कही नहीं मिल सकती.

 

ये एक बहुत ही सरल तरीका है अपने पैसो को ख़ुशी में तब्दील करने का.

Submit Your Story

ये भी पढ़े:

एक अच्छे इंसान की कहानी – Good Man Story in Hindi
बूढ़ी औरत के 50 रुपए… Heart Touching Emotional Story in Hindi
संयम पर बहुत सुन्दर कहानी – Buddha Inspirational Story in Hindi on Patience
Mam…..आपने शादी क्यों नहीं करवाई – A Very Special Story in Hindi

23 साल गुज़ारे जेल में बिना किसी जुर्म के – एक कैदी की कहानी

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते