“आज भी याद आती है उसकी हंसी” My First Crush Story in Hindi

Short First Crush Love Story in Hindi

एक बार मैं अपने पैरेंट्स के साथ दिल्ली रिश्तेदार के घर शादी में गयी हुयी थी। लड़की की शादी थी। लड़की अपने मां-बाप की इकलौती संतान थी और अच्छी जगह पर जॉब भी करती थी। शादी के बाद उसे अमेरिका चले जाना था। शादी की तैयारियां बड़ी धूमधाम से की गईं थी। सजावट इतनी ज्यादा थी कि चारों तरफ की चकाचौंध देखते बन रही थी। खुशनुमा माहौल था और लोगो की भीड़ भी अच्छी थी। शादी में सभी लोग खाने- पीने का आनंद ले रहे थे।

My First Crush Story in Hindi

थोड़ी देर में शादी की रस्मे भी शुरू हो गयी और मंत्रोच्चार के साथ शादी की रस्में एक के बाद एक पूरी की जा रही थी। हर रस्म में लड़की की मम्मी रोने लगती क्योंकि उनको लगता कि बेटी अब उनसे बहुत दूर चली जाएगी। मैं भी शादी का आनंद ले रही थी और बारातियो के साथ हंसी मज़ाक हो रही थी।

शादी में आए बाराती भी बेहद हंसमुख थे। उन्हीं में से एक था रोहित, जिसने शादी के कई पलों में हंसी मजाक से रोते हुए लोगों को हंसा दिया। रोहित हंसमुख के साथ दिखने में भी बहुत हैंडसम था। मैंने रत में उससे बात करने की कोशिश की पर नहीं हो पायी, बस नजरे मिली।

लड़की की विदाई का समय आया तो माहौल एकदम शांत हो गया। लड़के वाले दुल्हन को ले जाने की तैयारी में जुट गए। लड़की वाले भी विदाई की तैयारियां करने लगे। विदाई की इस घड़ी में दुल्हन को गाड़ी में ले जाकर बिठा दिया गया। ऐसे में, सभी रिश्तेदार व लड़की के मां-बाप रोने-धोने लगे। मैं भी उन लोगो के साथ थी। सब रोए ही जा रहे थे कि तभी एक रोहित ने मजाक करते हुए कहा, आप लोग चुप होते हैं या नहीं, अगर लड़की को नहीं भेजना है, तो हम दूल्हे मियां को यहीं छोड़ जाते हैं। उसकी ऐसी बातें सुनकर अचानक सभी रोते हुए लोग हंसने लगे। ऐसे में कोई भी अपनी हंसी रोक नहीं पाया। इस तरह सारा गमगीन माहौल बदल गया और लोग न चाहते हुए भी हंसने लगे।

रो रोकर बेहाल हुए जा रहे लड़की और उसके पैरेंट्स भी हंसे बिना नहीं रह सके। कहां तो अब तक छोटी छोटी रस्मों के दौरान भी रो रहे थे, और कहां विदाई की इस बेला में भी उनकी नम आंखें मुस्कुरा दीं। शादी की विदाई के समय माहौल ऐसा बन गया था कि हर किसी ने लड़की को खुशी- खुशी हंसते हुए विदा किया। मुझे पहली बार कोई लड़का इतना पसंद आया था पर  उसके बाद उस लड़के से कभी मुलाकात नहीं हो पायी, लेकिन आज भी उसकी हंसी मेरे यादों से नहीं जाती है।

ये भी स्टोरी पढ़े – 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते