काश एक ओर ज़िन्दगी मिल जाये – HIV Story in Hindi

HIV Story in Hindi Submitted by an Unknown Author

हम जैसे लोग जिन्हे HIV होता है, उनके लिए shortstoriesinhindi.com जैसे वेबसाइट सबसे उत्तम जगह है जहाँ हम अपने दिल का हाल सुना सकते है. मैं अपना नाम नहीं बता सकता क्यूँकि मैं नहीं चाहता कि मेरे दोस्त या कोई और मेरे बारे में जान सके. आज कल लोग बहुत judgemental है, HIV वाले मरीज़ के पास तो कोई व्यक्ति आने से भी डरता है.

HIV Real Story in Hindi

मैं 26 साल का हू, जब मैं 2 साल का था तब मेरी माँ का देहांत हो गया था, पिता ने तो मेरे जन्म से पहले ही किसी और औरत के साथ शादी कर ली थे. मैं अपने मामा के साथ रहता हू जिन्होंने बचपन से मुझे पाला पोसा.

HIV Story in Hindi

AIDS Full Story in Hindi

2015 में मुझे पता चला कि मैं HIV से ग्रस्त हू. मुझे न्युमोनिआ हुआ था और इसलिए मैं हॉस्पिटल में दाखिल था. मेरा न्युमोनिआ तो काफी हद तक ठीक हो गया था लेकिन डॉक्टर ने मुझे किसी टेस्ट के लिए हॉस्पिटल में रोक रखा था. मैंने डॉक्टर को पुछा कि कौनसा टेस्ट करना बाकी है तो उसने बताया “HIV”

एड्स पर कहानी

उस समय मैंने सोचा कि शायद न्युमोनिआ में HIV का टेस्ट करते होंगे और इसलिए मैं बेफिक्र था क्यूंकि मुझे यकीन था कि मुझे HIV तो हो ही नहीं सकता लेकिन जब टेस्ट का रिजल्ट आया तो मेरे पैरो टेल ज़मीन ही खिसक गयी. मैं तो जैसे ज़मीन पर गिरने ही वाला था कि डॉक्टर ने मुझे संभाला. एक पल में मनो मेरे सारे  गए और मुझे मेरी आंखों के सामने अपनी मौत दिखने लगी.

HIV Aids ki Kahani

मैंने डॉक्टर को घबराते हुए कहा ” सर, हो सकता है कोई गलती हो, मुझे कैसे HIV हो सकता है?”

 

डॉक्टर ने मेरे कंधे पर हाथ रखा और कहा “तुम्हे HIV है बेटा लेकिन घबराओ मत, आजकल दवाइयों के ज़रिये इस बीमारी पर काबू किया जा सकता है.”

HIV Story in Hindi

जब मैं घर आया तो मैंने रोते हुए अपने मामा को सब कुछ बताया और सोचा कि उन्हें बहुत धक्का लगेगा ये सब जानकार लेकिन उन्होंने कुछ नहीं कहा. एक मिनट चुप रहकर मेरे मामा ने मुझे कहा ” बेटा, मैंने तुम्हे कभी बताया नहीं लेकिन आज बताना चाहता हूँ. तुम्हारी माँ को भी HIV था और उन्हें ये बीमारी तुम्हारे पिता से मिली थी.

HIV Story in Hindi

मेरे मामा ने फिर मुझे बताया कि हमने कभी तुम्हे इस बारे में नहीं बताया क्यूंकि आज तक तुममे HIV का कोई भी लक्षण नहीं था लेकिन जब तुम्हे न्युमोनिआ हुआ तो मुझे शक हो गया था कि अब HIV का संक्रमण तुम्हे हो गया है.

 

अब मुझे दो साल से HIV है और सच बताऊ तो मैं दूसरे HIV मरीज़ो की तुलना में काफी स्वस्थ हू लेकिन हर समय मुझे depression रहता है क्यूंकि मुझे नहीं पता कि आने वाले समय में मेरे साथ क्या होगा. शुक्र है कि आजकल HIV जैसी बीमारी से लड़ने के लिए काफी आधुनिक दवाईया मुजूद है, मुझे डॉक्टर ने कह रखा है कि अगर मैं अपनी दवाईयां समय पर लेता रहु तो लम्बी उम्र जे सकता हू और क्या पता कुछ सालों तक HIV जैसी बीमारी का इलाज भी निकल जाए, मैं तो बस ये उम्मीद ही कर सकता हू.

HIV Story in Hindi

HIV की वजह से मैं काफी कमज़ोर हो गया हू और मुझे दिन में 10 से 12 दवाईयां भी खानी पड़ती है जिससे कि कई साइड इफ़ेक्ट भी होते है.

 

वैसे तो HIV कभी भी छूने, झूठा खाने या किस करने से नहीं फैलता लेकिन लोग HIV के मरीज़ से मीलों दूर भागते है और इसीलिए मैंने अपने दोस्तों को इस बीमारी के बारे में नहीं बताया. मेरे कई अच्छे दोस्त है और मैं उन्हें खोना नहीं चाहता। दोस्तों के साथ घूमना और उनके साथ टाइम बिताना मुझे बहुत अच्छा लगता है लेकिन कई बार HIV बीमारी का तनाव भी बहुत हो जाता है, तनाव इस बात का भी है कि मैं कभी शादी नहीं कर पाऊंगा, मुझे बच्चे बहुत पसंद है.

HIV Story in Hindi

अपनी ये कहानी लिखते लिखते मैं इमोशनल हो गया हू और हमेशा यही दुआ करूँगा कि किसी को भी ऐसी बीमारी ना हो.

 

धन्यवाद

Submit Your Story

ये भी पढ़े:

डायपर की वजह से बच्चे को मिली दर्दनाक मौत – Sad Real Life Story in Hindi
पीरियड्स के वो 3 सबसे गंदे दिन – My First Period Story in Hindi
शरारती बच्चा की कहानी – Story of Kid in Hindi

पीरियड्स (Menses) नहीं आफत !!… Period Pain Story in Hindi
समाज ने मर्द को कही का ना छोड़ा – Short Sad Story in Hindi
तो क्या हुआ अगर मैं मोटी हू, Size Zero से तो अच्छी ही हू – Ketki Subhash
Kuch Ladko ki Soch Ladkiyo ke Liye Kabhi Nahi Badal Sakti
अपने पति की इन 5 आदतों से परेशान हो गयी हूँ – Story by Rashmi Sinha
True Fiendship Story in Hindi – सच्ची दोस्ती की कहानी
My First Karva Chauth Story in Hindi – सुनिए एक फौजी की पत्नी की जुबानी
कोई मुझसे पूछे गरीबी क्या है – Short Story on Poverty in Hindi

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते