इंडियन आर्मी और मीडिया की दुश्मनी – Army Hindi Story

Army Hindi Story

Submitted by Rohitash Thakur

माना कि भारत विविधताओं से भरा देश है लेकिन यहाँ जिस चीज़ को सबसे ज़्यादा अहमियत देनी चाहिए उसे कभी अहमियत नहीं मिलती.

मैं खफा हू भारत की मीडिया पर.

हिंदुस्तान की मीडिया तैमूर खान (सैफ अली खान का बेटा) की खबर दिखाने में कभी देर नहीं करती।

Army Hindi Story

मीडिया ने दिल खोलकर रणवीर और दीपिका पादुकोण की शादी टीवी पर दिखाई

मीडिया ने विराट और अनुष्का का प्यार बड़े चाह से लोगों को दिखाया

हेमा मालिनी का एक्सीडेंट कैसे हुआ, क्या हुआ…

गौर से देखिये इस आदमी को….

भारत तेरे टुकड़े होंगे …. इंशाअल्लाह …

आजकल बस ऐसी ही खबरे देखने को मिलती है.

लेकिन जब आर्मी का कोई सैनिक घायल या शहीद होता है तब ना जाने मीडिया को सांप क्यों सूंघ जाता है…

आर्मी का कोई सैनिक घायल या शहीद होता है तब ना जाने मीडिया को क्या हो जाता है…

नीचे आप जो फोटो देख रहे हो इस बच्चे का नाम है अगस्त्य कौस्तुभ राणे (Agastya Kaustubh Rane).

ये मेजर कौस्तुभ राणे (Major Kaustubh Rane) का बेटा है. मेजर राणे LOC की रक्षा करते हुए 9 अक्टूबर 2018 को शहीद हुए थे. आतंकवादियों ने उन्हें 10 – 12 गोलियों से छलनी कर दिया था. लेकिन मीडिया ने ये खबर नहीं दिखाई क्यूंकि उनके लिए दूसरी खबर ज़्यादा ज़रूरी थी.

Army Hindi Story – क्यों नहीं दिखाई ये खबर?

मीडिया ने ये खबर पूरे जोश में इस लिए दिखाई क्यूंकि मेजर राणे कोई सेलिब्रिटी व एक्टर नहीं थे.

मेरा मानना है कि हर इंडियन आर्मी का फौजी एक सेलिब्रिटी है और इस देश के रक्षकों की खबर मीडिया को सबसे पहले दिखानी चाहिए. पता नहीं क्यों इस देश में एक्टर या क्रिकेटरो को भगवान मानते है. जो इस देश की रक्षा करते हुए अपना फ़र्ज़ निभाते है उन्हें कब अहमियत मिलेगी, पता नहीं….

Army Hindi Story

इस बच्चे को अभी शायद एहसास नहीं कि इसके पिता के साथ क्या हुआ लेकिन अगर मीडिया का यही रुख रहा तो इस देश के युवा सेना में जाने से डरने लगेंगे, फिर कौन रक्षा करेगा इस देश की?

मेरा नमन है सारे फौजी भाईयों को और मैं उन्हें धन्यवाद करता हू इस देश की आन बान और शान को बनाये रखने के लिए.

Dosto, agar ye Army Hindi Story ko Facebook par zarur SHARE kare. Aur aapke pas bhi koi story ho to hame batayen. Publish kiya jayega.

जय हिन्द

Submit Your Story

ये भी पढ़े:

जानिये कैसे की मैंने आर्मी भर्ती की तैयारी – एक फौजी की ज़बानी

My First Karva Chauth Story in Hindi – सुनिए एक फौजी की पत्नी की जुबानी
जब मिलिट्री ट्रेनिंग के दौरान कैडेट की मौत हो गयी – Military Walo ki Training
मेजर नवनीत और शिवानी की लव स्टोरी – Indian Army Love Story in Hindi
एक फौजी की बेटी होना कैसा अनुभव है, सुनिए अर्शदीप कौर की ज़ुबानी।
जब मेरे फौजी पति के जूनियर ने मुझे सैल्यूट किया – आर्मी स्टोरी
रोमांच, हिम्मत और बलिदान से भरी मेजर सुधीर वालिया की एक आर्मी स्टोरी

1 Response

  1. pooja tiwari says:

    ये तो सच है आज मिडीया प्रोफेशनल हो गया है , उन्हे न्युज से ज्यादा Advertisement चाहिये .

Leave a Reply

Your email address will not be published.

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते