माँ बेटे के प्यार को दर्शाती एक खूबसूरत कहानी – Hindi Story on Parents

story on parents in Hindi

Hindi Story on Parents

बूढी माँ अपने बिस्तर पर बैठी थी, अपनी बहु के साथ बहस कर रही थी..

माँ: अरे बहु मुझे वो नींद की दवाई दे दे जो राकेश ( बेटा ) है मुझे.. वरना मुझे नींद नहीं आएगी.

बहु किसी हॉस्पिटल में नर्स थी और उसे पता था कि रोज़ रोज़ नींद की दवाई लेने का बहुत नुक्सान होता है.

बहु: नहीं माँ जी…मैं आपको नींद की गोली नहीं दूंगी…पता है लिवर पर कितना बुरा असर पड़ता है इस गोली का.

माँ: अरे बहु..मुझे बिना गोली के नींद नहीं आती… जल्दी दे दे गोली. मेरा बेटा तो बिना मेरे पूछे ही मुझे दे देता है, पता नहीं तेरी मुझसे क्या दुश्मनी है.

बहु: माँ जी दुश्मनी कोई नहीं, बस मुझे आपकी सेहत की फ़िक्र है.

बहु ने दिल में सोचा कि वो क्यों इन्हे रोज़ नींद की दवाई देते है..

बहु अपने पति यानि कि माँ जी के बेटे को कोस रही थी और सोच रही थी कि रोज़ रोज़ नींद की दवाई देने की क्या ज़रूरत है… क्यों वो इनकी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे है..

कुछ ही देर में बेटा भी आ जाता है..

बेटे को देखकर माँ ने आवाज़ लगायी… “बेटा ….वो नींद की गोली तो दे दे, तेरी पत्नी जो कि डॉक्टरनी बनती है उसने तो दी नहीं.

बेटा माँ के पास आया और कहा “अभी देता हु माँ”

इतने में पत्नी भी आ गयी और कहा “नहीं..ये नींद की गोली मत देना माँ को, इसका सेहत पर बुरा असर होता है”

लेकिन बेटा था कि पत्नी की एक न सुनी और अपनी जेब से एक पीली गोली निकली और माँ के मुंह में डाल दी.

गोली खाते ही माँ लेट गयी और सोने की कोशिश करने लगी.

उधर बीवी अपने पति से बहस करने लगी और कहा “अरे.. आप क्यों माँ जी को रोज़ नींद की गोली देते हो, क्या आपको उनकी सेहत की परवाह नहीं, क्या आपको नहीं पता इस गोली के कितने साइड इफेक्ट्स होते है, आप ऐसा कैसे कर सकते हो?”

पति ने पत्नी को समझाते हुए गोलियां दिखाई और कहा ” अरे मेरी माँ.. मेरी बात तो सुनो… ये गोलियां मल्टी विटामिन्स और ताकत की है..माँ को ये गोलियां खा कर अच्छा लगता है और इसलिए उन्हें इसकी आदत सी हो गयी है.”

पत्नी 1 मिनट के लिए शांत हो गयी और कहा “ऐसा क्यों करते हो आप, आपने बताया क्यों नहीं माँ जी को, ये तो धोखा हुआ ?”

पति ने कहा “माँ ने बचपन में मेरे साथ भी बहुत धोखे किये है…जब मैं खाना नहीं खाता था तो धोखे से खिला देती थी, और जब मैं दवाई नहीं खाता था तो खाने में मिला देती थी …… मैं बस अपना बदला ले रहा हूँ”

पति का इतना साफ़ दिल और माँ के लिए इज़्ज़त देखकर पत्नी से भी रहा ना गया और प्यार में पति के गाल पर चुम्बन दे दिया और कहा “आप को समझना भी बहुत मुश्किल है”

दोस्तों ये हमने इसलिए लिखी है ताकि आज की युवा पीढ़ी भी अपने माँ बाप के प्यार को समझे. मैंने बहुत किस्से देखे है कि बेटा शादी या नौकरी के बाद अपने माँ बाप को प्यार व इज़्ज़त देना कम कर देता है लेकिन कृपया ऐसा न करे. बूढी उम्र में आप ही उनका सहारा हो, उनके साथ दिन में थोड़ा वक्त ज़रूर बिताये, उन्हें अच्छा लगता है.

धन्यवाद    

(दोस्तों आपके पास भी कोई कहानी हो और उसे पब्लिश करना चाहते हैं, तो हमें भेजे, जल्दी आपके नाम के साथ पब्लिश किया जायेगा।)

Submit Your Story

ये भी पढ़े:

समाज ने मर्द को कही का ना छोड़ा – Short Sad Story in Hindi

True Fiendship Story in Hindi – सच्ची दोस्ती की कहानी

“Uth Jaa Nalayak, Diwali aa Rahi Hai” – Short Story About Mother in Hindi

“इंसानियत सबसे पहले” – Story on Humanity in Hindi

कोई मुझसे पूछे गरीबी क्या है – Short Story on Poverty in Hindi

क्या पैसो से ख़ुशी खरीदी जा सकती है? Short Story on Happiness in Hindi

Facebook Par Love Story – Har Ladke ke Liye Zaruri Sabak

एक अच्छे इंसान की कहानी – Good Man Story in Hindi

हमेशा जो दिखाई देता है, वो सच नहीं होता – Story on Moral Values in Hindi

Men Will be Men – A Cool Story in Hindi

1 Response

  1. Govind says:

    Wow it’s nice story some times I will try to Writting a story but iam not a write story

Leave a Reply

Your email address will not be published.

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते