हाँ, मुझे दहेज़ चाहिए …. Dowry Story in Hindi

Dowry Story in Hindi Submitted by Anil Ratra

मेरा नाम अनिल है. मैं एक बड़े परिवार से हूँ. मेरे पिता जी एक्सपोर्ट का बिज़नेस है और साफ़ साफ़ बताऊ तो हम अपने इलाके में काफी अमीर लोगों में आते है. मैं IT Consultant हू और महीने के 2 लाख रुपये से ज़्यादा कमा लेता हूँ.

 

मैं और मेरे घरवाले कानपूर में एक लड़की देखने गए. लड़की बहुत सुन्दर थी और मुझे देखते ही पसंद आ गयी. हमारे माँ बाप ने हमें अकेले बात करने के लिए घर के बाहर गार्डन में भेज दिया. लड़की ने मुझसे जॉब और मेरी तनख्वाह के बारे में पुछा, घर के बारे में पुछा और फिर कहा कि मैं हमेशा से चाहती थी कि मेरी जिससे शादी हो उसके पास बड़ा घर हो, गाडी और अच्छे पैसे कमाता हो.

dowry story in hindi

Dowry Story in Hindi

फिर लड़की ने अपनी मॉडर्न सोच के बारे में बताया और थोड़ी देर बाद कहा कि मैं दहेज़ (Dowry) के सख्त खिलाफ हूँ.

 

इससे आगे वो लड़की और कुछ बोलती, मैंने तुरंत कहा “लेकिन मुझे तो दहेज़ चाहिए”

 

लड़की ने 10 सेकंड के लिए मेरी तरफ देखा और फिर कहा “शर्म नहीं आती, आप शरेआम दहेज़ मांग रहे हो?”

Dowry Story in Hindi

मैंने भी लड़की की तरफ 5 सेकंड देखा और फिर कहा “तुम्हे अपने होने वाले पति से सब कुछ चाहिए, बड़ा घर, बड़ी गाडी, मोटी तनख्वाह लेकिन अगर मैंने थोड़ा दहेज़ क्या मांग लिया तो मैं बेशर्म हो गया…”

 

दोस्तों ये कोई नयी कहानी नहीं, बल्कि ये तो आजकल बड़ी आम बात है. इसमें कोई दोराय नहीं कि आजकल की लड़कियां हमेशा उस लड़के से शादी करना चाहती है जिनकी आमदनी बहुत ज़्यादा हो, कई लड़किया तो ये भी चाहती है कि शादी के बाद लड़का अपने घरवालों से अलग फ्लैट लेकर रहे. लड़कियां अपने पति से सब कुछ चाहती है, अमीर घराना, मोटी कमाई ….. तो क्यों लड़कियां दहेज़ के खिलाफ है. लड़कियों को पति से तो सब कुछ चाहिए लेकिन देना  चाहती, आजकल प्यार से कुछ नहीं होता जनाब !

Dowry Story in Hindi

मैं भी दहेज़ के खिलाफ हू और मैं उस लड़की से बिलकुल दहेज़ नहीं लूँगा जो मुझसे मेरी तनख्वाह पूछे बिना शादी करेगी. जो लड़की अमीर घराना या ज़्यादा तनख्वाह वाला पति चाहती है, वो उस लड़के को उसी वक़्त छोड़ कर चली जायेगी जब उसकी नौकरी या पैसे ख़त्म हो जाएंगे.

Dowry Story in Hindi

मैं लड़कियों की बहुत इज़्ज़त करता हू लेकिन आजकल ज़्यादातर लड़किया हमेशा बड़े घर की तलाष में होती है. ऐसी लड़कियों से मेरा सिर्फ यही अनुरोध है कि मर्दो को ATM कार्ड ना समझे वरना एक समय ऐसा आएगा जब लड़को का शादी पर से विशवास ही उठ जाएगा.

Submit Your Story

ये भी पढ़े:

डायपर की वजह से बच्चे को मिली दर्दनाक मौत – Sad Real Life Story in Hindi
पीरियड्स के वो 3 सबसे गंदे दिन – My First Period Story in Hindi
शरारती बच्चा की कहानी – Story of Kid in Hindi
पत्नी की इन आदतों की वजह से रोज़ बोलता हू उसे I Love You
Beer ke Ilava Ye Hai Mere Baaki Shaunk – Komal Rathee
जब टॉयलेट में Labour Pain शुरू हो गया, शुक्र है कार में डिलीवरी नहीं हुई
जानिये क्यों है मेरे पति दुनिया के Best Husband – कनिका मित्तल
पीरियड्स (Menses) नहीं आफत !!… Period Pain Story in Hindi
समाज ने मर्द को कही का ना छोड़ा – Short Sad Story in Hindi
तो क्या हुआ अगर मैं मोटी हू, Size Zero से तो अच्छी ही हू – Ketki Subhash
Kuch Ladko ki Soch Ladkiyo ke Liye Kabhi Nahi Badal Sakti
अपने पति की इन 5 आदतों से परेशान हो गयी हूँ – Story by Rashmi Sinha

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते