अमरीका के पहले राष्ट्रपति जॉर्ज वाशिंगटन जीवनी – George Washington Life Story in Hindi

नाम- जॉर्ज वॉशिंगटन

जन्म- 22 फरवरी 1732

पार्टी- संघवादी

मृत्यु- 14 दिसंबर 1799

राष्ट्रपति कार्यकाल- 1789- 1797

कौन थे जॉर्ज वॉशिंगटन

अमेरिका के पहले राष्ट्रपति बने जॉर्ज वॉशिंगटन को अमेरिका का ‘राष्ट्रपिता’ भी कहा जाता है। जॉर्ज वाशिंगटन ने ब्रिटेन के विरुद्ध अमेरिकी स्वतंत्रता संग्राम में Continental Army की अगुवाई की और जीत भी दिलाई। आज भी अमेरिका में जॉर्ज वॉशिंगटन को एक महान सेनानी के रुप में याद किया जाता है। जॉर्ज वॉशिंगटन का जन्म 22 फरवरी 1732 में अमेरिका के पॉपस क्रीक, वर्जीनिया कॉलोनी में हुआ था। उस वक्त ये कॉलोनी अंग्रेजों के अधीन हुआ करती थी। वॉशिंगटन के पिता ऑगस्टिन वॉशिंगटन एक बगान के मालिक थे। ऐसे में जॉर्ज का भी ज्यादातर वक्त बागवानी में बितता था।

जॉर्ज ने स्कूली शिक्षा कम ही हासिल की, बल्कि उन्होंने घर में रहकर ही बुनियादी ज्ञान हासिल किया। जॉर्ज वॉशिंगॉन 11 साल के थे, जब उनके पिता की मौत हो गई। जिसके बाद उनके बड़े भाई ने उनकी एक पिता की तरह परवरिश की और उनकी सभी सुख-सुविधाओं का ध्यान दिया। 16 साल की उम्र में जॉर्ज को भूमापक के रुप में पहली नौकरी मिली।

अमेरिकी सेना में भर्ती

भूमापक की नौकरी करने के कुछ समय बाद ही जॉर्ज वॉशिंगटन अमेरिकी सेना में भर्ती हो गए। जहां 6 नवंबर 1752 में उन्हें मेजर का पद हासिल हुआ। यही से उनके सैनिक जीवन में गति आई। इसके बाद 24 जुलाई 1758 में वर्जीनिया के प्रतिनिधि के रुप में चुने गए। यह उनकी अब तक की सबसे बड़ी सफलता थी। इस दौरान जॉर्ज वॉशिंगटन ने फ्रांस के विरुद्ध हुए युद्धों में भी भाग लिया। जॉर्ज 16 जून 1775 को उत्तर राज्यों की संयुक्त सेनाओं के प्रधान चुने गए। बतौर प्रधान जॉर्ज ने नौवर्षीय युद्ध में ब्रिटिश सेना के छक्के छुड़ा दिए थे। जॉर्ज वॉशिंगटन ने इसी दौरान ब्रिटिश सरकार संयुक्त राज्यों की आजादी के लिए बाध्य कर दिया। लगातार बुलंदियों को छूते हुए 4 जुलाई 1798 को जार्ज वॉशिंगटन लेफ्टिनेंट जनरल और प्रधान सेनापति चुने गए।

अमेरिका के पहले राष्ट्रपति बने जार्ज वॉशिंगटन

28 मई 1787 कोजॉर्ज वॉशिंगटन फेडरल सम्मेलन के अध्यक्ष बनाए गए। इसके बाद इसी साल 17 सितंबर को जॉर्ज वॉशिंगटन ने संविधान प्रारुप पर हस्ताक्षर किया। जॉर्ज वॉशिंगटन ने 30 अप्रैल 1789 को अमेरिका के प्रथम राष्ट्रपति के रुप में पद ग्रहण किया। जॉर्ज वॉशिंगटन दो अवधियों के लिए राष्ट्रपति रहे। वे अपने राष्ट्रपति पद के दो कार्यकाल के बाद खुद इस पद से हट गए और उन्होंने किसी भी व्यक्ति के अमेरिका का दो से ज्यादा बार राष्ट्रपति नहीं बनने का नियम बनाया।

जॉर्ज वाशिंगटन ने राष्ट्रपति के रुप में न सिर्फ कैबिनेट की नींव रखी बल्कि पहले राष्ट्रीय बैंक बनाने एवं सुप्रीम कोर्ट के न्यायधीशों की नियुक्ति करने जैसे कई अहम फैसले लिए। इसके अलावा उन्होंने संविधान के मुताबिक अमेरिकी सरकार के गठन करने में भी अपना महत्वपूर्ण रोल अदा किया।

जॉर्ज वॉशिंगटन से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें

  • साल 1761 में जॉर्ज वॉशिंगटन ने दक्षिण राज्यों की 1887 मील लम्बी यात्रा घोड़ागाड़ी से तय की थी।
  • एक बार युद्ध के दौरान उनके घोड़े को गोली लग गई थी, तब उन्होंने वहां से भागकर अपनी बचाई।
  • वाशिंगटन ने 1774 के ऐतिहासिक फिलाडेल्फिया सम्मेलन में वर्जीनिया का प्रतिनिधित्व किया था।
  • जॉर्ज वॉशिंगटन की मृत्यु 14 दिसंबर साल 1799 को गले के इन्फेक्शन की वजह से हुई थी।
  • जॉर्ज को राष्ट्रपति बनाने के लिए सभी पार्टियों ने भी सहमति दी थी। जॉर्ज अमेरिका के इकलौते ऐसे राष्ट्रपति हैं, जिन्हें सर्वसम्मति से चुना गया था।
  • अमेरिका की राजधानी ‘वॉशिंगटन डी.सी.’ का नाम जॉर्ज वॉशिंगटन के नाम पर ही रखा गया है।
  • जॉर्ज वॉशिंगटन ने एक विधवा मार्था डॅन्डरिज कस्टिस से शादी की थी। शादी के बाद उनका कोई बच्चा नहीं हुआ था, इसलिए वाशिंगटन मार्था के बच्चों को ही अपने बच्चे मानते थे।
  • जॉर्ज वांशिगटन के नाम पर ही अमेरिका की वर्तमान राजधानी ”वाशिंगटन डी.सी.” का नाम रखा गया, लेकिन वे कभी राष्ट्रपति के रुप में यहां नहीं रह सकें। दरअसल, उनके समय में अमेरिका की राजधानी न्यूयॉर्क सिटी थी।

ये भी पढ़े:

George Washington Life Story in Hindi अच्छी लगी हो तो, इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करे।

You may also like...

2 Responses

  1. preeti says:

    vineet you wriete very well. i also used to write on zindagisebaat.com. give me review

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिना परमिशन कॉपी नहीं कर सकते